श्रद्धा व आस्था के साथ मनाया गया गोवर्धन पर्व...महाभारत कालीन शुकतीर्थ पर भी मना पर्व

श्रद्धा व आस्था के साथ मनाया गया गोवर्धन पर्व...महाभारत कालीन शुकतीर्थ पर भी मना पर्व

मुजफ्फरनगर। जनपद में गोवर्धन पर्व आस्था व श्रद्धा के साथ मनाया गया। नगर के साथ-साथ महाभारतकालीन पौराणिक तीर्थ शुक्रताल में भी श्रद्धा के साथ पर्व मनाया गया। इस मौके पर गोवर्धन प्रतिमा के दर्शन के लिए भारी भीड़ उमड़ी। गोवर्धन पर्व पर नगर की गौशालाओं पर सद्गृस्थियों ने गौ पूजा की। सभी लोगों ने मंदिरों व अपने घर पर अन्नकूट का प्रसाद बना कर भगवान कृष्ण को अर्पित कर वितरण करने के उपरांत और अपने परिजनों के साथ उसे पाया। खेती से जुड़े लोगों ने गोवर्धन की पूजा कर अपने घर के पशुओं की खुशहाली व खेत खलिहान में भी खुशहाली की कामना के लिए भगवान कृष्ण की पूजा की है। नई मंडी गौशाला में इस दौरान गोवर्धन का मेला भी लगा। देर शाम तक यहां आकर्षक रूप से तैयार किये गये गाय के गोबर से बने विशालकाय गोवर्धन महाराज के दर्शन करने के लिए लम्बी-लम्बी लाइनें लगी रहीं। इसकेे साथ ही गांधी कालोनी स्थित गोलोकधाम पर भी बनी गोवर्धन की प्रतिमा को देखने को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ नजर आयी।
गोवर्धन पर्व पर नगर के मंदिरों में विशेष साज सज्जा की गयी थी। मोहल्ला सुभाषनगर स्थित शिवमंदिर के पुजारी पंडित योगेश दत्त शर्मा ने गोवर्धन पूजा के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्हांेंने बताया कि द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्ण ने इंद्र की पूजा को छुड़वाकर गोकुलवासियों को गोवर्धन पर्वत की पूजा करने को कहा था। जिस पर इंद्र क्रोधित हो उठे थे और उन्होंने लगातार सात दिन तक भारी वर्षा की थी। जिस पर श्रीकृष्ण के कहने पर सभी गोकुलवासी गोवर्धन पर्वत पर आ गये थे और उसे श्रीकृष्ण ने अपनी कनकी अंगुली पर उठा कर गोकुलवासियांे की रक्षा की थी। तभी से लोग गोवर्धन की पूजा करते आ रहे हैं।
वहीं दूसरी ओर इसके साथ गंगा के किनारे बसे प्रदेश के महाभारतकालीन पौराणिक तीर्थ स्थल शुक्रताल में हनुमद्धाम, शुकदेव आश्रम, दंडी आश्रम की गौशालाओं में भक्तांे ने गौ एवं गोवर्धन पूजन किया और सभी आश्रमों में अन्नकूट का प्रसाद वितरण किया गया। हनुम(ाम के स्वामी केशवानन्द सरस्वती ने गोवर्धन पर्व के महत्व के बारे में भक्तांे को विस्तार से बताते हुए पर्व मनाने का लाभ भी बताया। इस अवसर पर हजारों भक्तांे ने शुकतीर्थ पहंुच कर धर्म लाभ उठाया।
सरवट ग्राम प्रधन के आवास पर गोवधर््न पर्व के मौके पर गोवधर््न पूजा की गई। इस अवसर पर ग्राम प्रधन श्रीमति उफषा शर्मा, प्रधनपति पं. श्रीभगवान शर्मा, )षभ शर्मा, चौ. चन्द्रवीरसिंह, मा. सोहनवीर सिंह, हरेन्द्र , मनोज चौधरी, प्रवीण, ठा. रमेश सिंह, हरिओम दरोगा, अशोक, सुखबीर, विनय लाला, नीरज त्यागी, भंवर सिंह, गजेन्द्र नेगी, राध्ेश्याम त्यागी, अमित गर्ग, बिजेन्द्र, संजय त्यागी, हरिओम शर्मा, र्ध्मपाल, अक्षय गर्ग, पं. सुभाषचन्द शर्मा, पं. ब्रहमप्रकाश शर्मा, प्रेम चौहान, शुभम चौहान व समस्त ग्रामवासी मौजूद रहे।

Share it
Top