पुलिस के विरूद्ध एकजुट हुआ गुर्जर समाज...सुमित एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराने की मांग

पुलिस के विरूद्ध एकजुट हुआ गुर्जर समाज...सुमित एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराने की मांग

मुजफ्फरनगर। बागपत में पुलिस मुठभेड़ के नाम पर मारे गये सुमित गुर्जर की हत्या करने का आरोप लगाते हुए गुर्जर समाज आज पूरी तरह से एकजुट नजर आया। समाज के सैंकड़ों लोगों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष धरना दिया और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए निर्दोष लोगों को एनकाउंटर के नाम पर मौत के घाट उतारने के आरोप लगाये। गुर्जर समाज ने सुमित एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराये जाने की मांग की है।
बागपत के गांव चिरचिटा निवासी सुमित गुर्जर का ग्रेटर नोएडा में पुलिस द्वारा एनकाउंटर कर दिया गया था। पुलिस ने दावा किया था कि मुठभेड़ में सुमित व उसके साथियों ने पुलिस पर हमला किया, जवाबी कार्यवाही में सुमित मौके पर मारा गया। पुलिस की इस कहानी के बाद से ही सुमित के परिजनों व गुर्जर समाज में रोष बना हुआ है। पूरे प्रदेश में इस एनकाउंटर पर राजनीति गर्माई हुई है। शुक्रवार को गुर्जर समाज के सैंकड़ों लोग पुलिस की कार्यप्रणाली पर रोष जताते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे और यहां डीएम कार्यालय के समक्ष ध्रने पर बैठ गये। इस दौरान यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्राी व सपा एमएलसी चौ0 वीरेंद्र सिंह गुर्जर ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधि पर सरकार का कोई भी शिकंजा नहीं है, निर्दोषों को मारकर पुलिस दिलेर बन रही है और सरकार भी अपनी पीठ थपथपा रही है, जबकि हकीकत ये है कि यूपी में भाजपा की सत्ता आने के साथ ही क्राइम ग्राफ तेजी से बढ़ा है। सरकार जनता को सुरक्षा मुहैया कराने में विपफल है और अपनी नाकामी छिपाने के लिए पुलिस को अपराध् करने की खुली छूट दे दी है। उन्होंने कहा कि सुमित गुर्जर का कोई क्राइम रिकार्ड पुलिस के पास नहीं है, उसको उठाने के बाद उसकी हत्या कर एनकाउंटर का नाम दिया जा रहा है। पुलिस अपनी कहानी बदल रही है। उन्होंने कहा कि 16 अक्टूबर को सुमित की तेरहवीं गांव चिरचिटा में होगी और इसमें पश्चिम यूपी के सभी गुर्जर और सामाजिक नेता जमा होंगे। उसी दिन सुमित के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए आंदोलन की अगली रणनीति का फैसला लिया जाएगा। उन्होंने इस एनकाउंटर के बजाये हत्याकांड बताते हुए सीबीआई से जांच कराने की मांग की। बाद में राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया।
इस दौरान अभिषेक चौध्री, भोपाल सिंह सहित सपा, रालोद के अनेक नेतागण व सैंकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।

Share it
Top