बछडा चोरी के प्रयास के बाद मीरापुर में बवाल, पथराव में एक युवती व एक युवक घायल....मौके पर सीओ जानसठ समेत कई थानों की फोर्स पहुंची

मीरापुर। कस्बे के मौहल्ला पडाव चौक में एक मकान के बाहर बंधे बछडे को केन्टर गाडी में चोरी से लादकर ले जाने का प्रयास करने पर मीरापुर में साम्प्रदायिक बवाल हो गया। सम्प्रदाय विशेष की भीड ने एक मकान पर पथराव कर दिया। पथराव में एक युवक व उसकी बहन घायल हो गये। पथराव में एक कैन्टर गाडी व बाईक तोड दी गयी। सूचना पर सीओ जानसठ, मीरापुर इंस्पैक्टर व कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गयी।मौहल्ला पडाव चौक निवासी पुष्पेन्द्र शर्मा पुत्र राजेन्द्र शर्मा के घर के बाहर उसका बछडा बंधा हुआ था। इसी दौरान मौहल्ला खटीकान की ओर से भैंस लदी हुई एक कैन्टर गाडी आयी। आरोप है कि कैन्टर में सवार युवकों ने बाहर बंधे पुष्पेन्द्र शर्मा के बछडे को गाडी में लादना चाहा। इस दौरान पुष्पेन्द्र शर्मा ने छत से आरोपियों को बछडा लादते हुए देख लिया तथा शोर मचाते हुए नीचे आ गया और एक आरोपी को पकड लिया, जिस पर आरोपी पुष्पेन्द्र पर हमला कर गाडी मौके पर छोडकर भाग लिये तथा कुछ ही देर में सैंकडों की भीड के साथ मौके पर आ गये और पुष्पेन्द्र शर्मा के मकान पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे मौहल्ले में भगदड मच गयी तथा पथराव में पुष्पेन्द्र शर्मा उसकी बहन कंचन ईंट लगने से घायल हो गये। वहीं शोर सुनकर दूसरे पक्ष के भी सैंकडो लोग मौके पर जमा हो गये, तो आरोपी भाग लिये पथराव से उत्तेजित भीड ने आरोपियों को दौडा लिया तथा आरोपियों की कैन्टर गाडी व एक बाईक तोड दी। सूचना पर मीरापुर इन्सपैक्टर अरविन्द कुमार मौके पर आ गये तथा उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। कुछ ही देर में बवाल की सूचना कस्बे में आग की तरह फैल गयी तथा मौके पर भाजपा नेता डा. मनोज भद्रकाशी, प्रदुमन शर्मा, डा. रविन्द्र पाराशर, सभासद शिवकुमार शर्मा, संजीव राठी, मूलचन्द शर्मा भी मौके पर आ गये तथा आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड गये तथा भाजपा नेताओं के नेतृत्व में भीड ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग शुरू कर दी। मामले की सूचना पर सीओ जानसठ एसकेएस प्रताप सिंह व रामराज, जानसठ समेत कई थानों की पुलिस फोर्स व डायल 100 की कई गाडियां मौके पर आ गयी तथा आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये दबिश दी। वहीं आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर भीड की पुलिस के साथ तीखीं झडप भी हुई। पुलिस ने करीब आधा दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया था। समाचार लिखे जाने तक पुलिस फोर्स मौके पर मौजूद था तथा आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये दबिश जारी थी।
2013 के दंगे में भी यहीं हुआ था बवाल
मीरापुर। मीरापुर में जिस स्थान पर बछडा लादने को लेकर बवाल हुआ वहीं 2013 के दंगे के दौरान एक व्यक्ति की हत्या के बाद बवाल हो गया था तथा तब से यह स्थान अति संवेदनशील माना जाता है। इस मौहल्ले में मिश्रित आबादी होने के कारण 2013 में यहाँ दोनों सम्प्रदायों के बीच बवाल हुआ था।
पथराव से सहम उठी युवतियाँ
मीरापुर। जिस समय भारी भीड ने आकर पुष्पेन्द्र शर्मा के मकान पर पथराव किया, उसी दौरान घर में खाना खा रही युवतियाँ बुरी तरह घबरा गयी तथा सहम गयी और मौके पर युवतियों के चींखने की आवाज सुनकर पूरा मौहल्ला जाग गया। पुलिस के आने के बाद भी युवतियों के चेहरे पर डर अलग झलकता दिखायी दे रहा था।
पुलिस देर से पहुंचती तो गिर जाती लाशे
मीरापुर। 2013 के दंगे के दौरान हुई हत्या के बाद बेहद संवेदनशील माने जाने वाले मौहल्ला पडाव चौक में हुए बवाल के बाद यदि पुलिस पहुंचने में जरा सी भी चूक कर देती, तो आज पुनः यहाँ एक दो हत्या हो जाती। मौके पर पडे ईंट पत्थर इस बात की गवाही दे रहे थे कि भीड ने पूरे सुनियोजित होकर हमला किया है तथा आरोपियों की भीड़ किसी भी हद तक जाने के मूड में थी।
आरोपी ने दी पांच लाख की लूट की सूचना
मीरापुर। पडाव चौक में हुए बवाल के बाद पथराव करने वाले आरोपियों की भीड में शामिल रहे एक युवक की बाईक मौके पर ही छूट गयी तथा दूसरे पक्ष ने बाईक तोड दी, तो आरोपी युवक ने एसएसपी अनन्त कुमार तिवारी को फोन पर अपने साथ पांच लाख रूपये की लूट होने की सूचना दी, जिससे एसएसपी ने मीरापुर पुलिस को लूट की जानकारी दी, तो इन्सपैक्टर मीरापुर अरविन्द कुमार ने मामले की सत्यता से एसएसपी को अवगत कराया।

Share it
Top