विकास कार्यों में शिथिलता नहीं होगी बर्दाश्तः डीएम...सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ समाज के पात्र अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जाये

विकास कार्यों में शिथिलता नहीं होगी बर्दाश्तः डीएम...सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ समाज के पात्र अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जाये

मुजफ्फरनगर। प्रभारी जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी अधिकारी शासन द्वारा संचालित समस्त योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम पात्र व्यक्तियों तक पहुंचायें। जिलाधिकारी ने कहा कि विकास कार्य समय सीमा के अन्तर्गत तथा मानकों के अनुसार गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण कराये। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में किये जा रहे विकास/निर्माण कार्यो का निरीक्षण स्वंय भी करें और थर्ड पार्टी निरीक्षण कराना सुनिश्चित करें। प्रभारी जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि सभी विभाग यह भी सुनिश्चित कर लें कि उनकी जमीन पर कही अवैध कब्जे और अतिक्रमण न हो, यदि कहीं अवैध कब्जे की शिकायत है, तो उसे तुरन्त हटवाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि दूरदराज के क्षेत्रों में चिकित्सा सेवाओं का लाभ मिले और संस्थागत प्रसवों को बढावा दिया जाये। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली में तेजी लायी जाये और प्रवर्तन कार्यों को बढावा दिया जाये। उन्हांेनेे कहा कि जिन विभागों ने गत माह लक्ष्य के सापेक्ष कम वसूली की है वे इस माह में लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत वसूली तथा बैकलॉग भी पूर्ण करना सुनिश्चित करें।
प्रभारी जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल आज विकास भवन सभागार में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विकास कार्यो मे किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि गत प्रमुख सचिव एवं नोडल अधिकारी जनपद मुजफ्फरनगर द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन शत-प्रतिशत सुनिश्चित करें। उन्होंने आईजीआरएस एवं तहसील दिवस की शिकायतों के निस्तारण पर जोर देते हुए कहा कि ढंग से आईजीआरएस पोर्टल एवं संपूर्ण तहसील समाधान दिवस की शिकायतों को गम्भीरता के साथ समय सीमा के अन्तर्गत निस्तारित करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लायी लायेगी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि स्वास्थ्य सेवा का लाभ समाज के हर व्यक्ति को मिले और समय से टीकाकरण का कार्य पूर्ण कराया जाये। उन्होंने सभी जीवन रक्षक दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। इसके साथ ही हैपेटाइटिस के टीके शत-प्रतिशत लगाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने समाज कल्याण विभाग द्वारा वितरित की जाने वाली छात्रावति की समीक्षा की। उन्होंने समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि ऑनलाइन पफीडिंग का कार्य पूर्ण करा लिया जाये। इसके अतिरिक्त वृद्धावस्था एवं विकलांग पेंशन के सम्बन्ध में भी निर्देश दिये कि पात्रता पूर्ण करने वाले लोगों के ऑनलाइन आवेदन कराये, जिससे पात्रों को पेंशन योजनाओं का लाभ मिल सके।
प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि नहरों में टेल तक पानी पहंुचना चाहिये। उन्होंने कहा कि नहरों एवं नालों की सिल्ट सफाई का कार्य प्राथमिकता पर कराया जाये, जिससे टेल तक पानी पहंुचे और रबी की पफसल समय पर बुआई हो सके। प्रभारी जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत सत्यापन का कार्य अभियान चलाकर पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि तहसील दिवस के अवसर पर अलग से काउंटर खोल कर पात्रों को लाभांवित किया जाये। उन्होंने कहा कि सस्ते गल्ले की दुकानों का आंवटन शीघ्र करा लिया जाये। प्रभारी जिलाधिकारी ने स्ट्रीट लाईट के कार्य में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। प्रभारी जिलाधिकारी को बताया गया कि इस माह 900 स्ट्रीट लाईट लगायी जायेगी। उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर अपशिष्ट कलैक्शन का कार्य निकायों में कराना सुनिश्चित किया जाये।
प्रभारी जिलाधिकारी ने बताया कि पाठय पुस्तकों के वितरण का कार्य शत-प्रतिशत हो चुका है। यूनिफार्म वितरण के कार्य में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने अध्यापकांे की उपस्थिति शत-प्रतिशत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बीएसए एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी नियमित रूप से निरीक्षण करें और शिक्षकांे की उपस्थिति सुनिश्चित करें तथा बिना अवकाश स्वीकृत कराये अनुपस्थित रहने वाले अध्यापकों के विरूद्ध कार्यवाही करें। इसके अतिरिक्त गन्ना मूल्य भुगतान की समीक्षा करते हुए पाया कि भैंसाना चीनी मिल पर अभी 38.17 करोड रूपया गन्ना मूल्य बकाया अवशेष है, जिसमें 5 करोड का भुगतान आज दोपहर तक कर दिया जायेगा। प्रभारी जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि 10 अक्टूबर तक सम्पूर्ण गन्ना मूल्य बकाये का भुगतान कराना सुनिश्चित किया जाये। प्रभारी जिलाधिकारी ने विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की और अधिशासी अभियंता को निर्देश दिये कि ट्रांसफार्मरों की स्थापना निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत करना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने नये विद्युत कनेक्शन की भी समीक्षा की। प्रभारी जिलाधिकारी ने पारदर्शी किसान योजना के अन्तर्गत 8925 किसानों का गत माह पंजीकरण पाया। उन्होंने निर्देश दिये कि माह दिसम्बर तक अवशेष सभी किसानों के पंजीकरण पूर्ण करा लिये जाये। उन्होंने मृदा परीक्षण कार्य की भी समीक्षा की और निर्देश दिये की मृदा स्वास्थ्य कार्ड कृषकों को वितरित करा दिये जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि खाद एवं उन्नतशील बीजों की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरसों, मटर एवं अन्य आवश्यक बीज की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। प्रभारी जिलाधिकारी ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं की भी समीक्षा की। उन्होने निर्देश दिये कि स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ सभी जरूरतमंदों को मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों में सभी आधुनिकतम मशीने एवं योग्य चिकित्सक उपलब्ध है। उन्होने 102/108 एम्बुलंेस सेवाओं के उपयोग की समीक्षा की और सीएमओ को निर्देश दिये कि प्रत्येक कॉल अटेंड करायी जाये और जरूरतमन्दों को इन सेवाओं का लाभ उपलब्ध कराया जाये। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी, परियोजना निदेशक एवं समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Share it
Top