झोपडी में आग लगने से एक दर्जन बकरियां जलकर मरी

झोपडी में आग लगने से एक दर्जन बकरियां जलकर मरी

भोपा। बकरी पालक की झोपडी में आग लग जाने से एक दर्जन से अधिक बकरियां जलकर मर गयी तथा आधा दर्जन गम्भीर रूप से झुलस गयी। बकरियों के अचानक मर जाने से गरीब मजदूर परिवार में शोक व चिन्ता छा गयी है। ग्राम प्रधान सहित ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से पीडित परिवार की सहायता की गुहार लगायी है। थाना भोपा क्षेत्र के गंगा किनारे आबाद ग्राम बिहारगढ में दलित आजाद पुत्र तिलकराम का परिवार मेहनत मजदूरी करता है तथा जंगलों में बकरियां चराकर अपनी आजीविका चला रह है। चार दर्जन से अधिक बकरियां गरीब परिवार की लाईफलाईन बनी हुई हैं। सोमवार की रात आजद अपनी झोपडी में सोया हुआ था। रात्रि 11 बजे के लगभग अचानक झोपडी में आग लग गयी। आग की लपटों को देखकर तथा आजाद द्वारा शोर मचाने पर ग्रामीण उधर दौडे तथा किसी प्रकार आग पर काबू पाया। तब तक आजद की एक दर्जन से अधिक बकरियां जलकर मर चुकी थी तथा आठ बकरियां गम्भीर रूप से झुलस गयी। आजाद के परिवार में मां राजकली के अलावा सन्दीप, मंजीत, परमजीत, अमरजीत, दीपक, सावित्राी, पूजा, लक्ष्मी, राधिका बकरियों के अचानक मर जाने से शोकग्रस्त है। ग्राम प्रधान बुद्धराम, रामपाल, डॉ. शिवकुमार, बबलू, नरेश, ब्रजेश, रामचन्दर, चतरे, पप्पू आदि ने जिलाधिकारी से पीडित परिवार को आर्थिक सहायता देने की गुहार लगायी है।

Share it
Top