रामपुर तिराहा काण्ड के शहीदों को उत्तराखंड के सीएम ने अर्पित किये श्रद्धासुमन...शहीदों के परिजनों को मिलेगा न्याय

रामपुर तिराहा काण्ड के शहीदों को उत्तराखंड के सीएम ने अर्पित किये श्रद्धासुमन...शहीदों के परिजनों को मिलेगा न्याय

मुजफ्फरनगर। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज रामपुर तिराहा काण्ड के शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि सरकार शहीदों के परिजनों के दु:ख को समझती है और उनकी हर संभव मदद की जाएगी।
रामपुर तिराहा काण्ड के शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिये यहां पहुचे श्री रावत ने कहा कि शहीदों के परिजनों को सरकार हर संभव मदद करेगी। उन्हें न्याय दिलाने के लिये सरकार प्रयासरत है। इस काण्ड में उत्तराखण्ड के आंदोलनकारी 28 नौजवानों समेत कई महिलाओं और बुजुर्गो की मृत्यु हो गई थी। रामपुर तिराहे पास बने हैलीपैड पर भाजपा जिलाध्यक्ष रूपेन्द्र सैनी, जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती आंचल तोमर, बिजनौर सांसद कुंवर भारतेन्दु सिह, पूर्व सांसद श्रीमती अनुराधा चौधरी, नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल, बुढ़ाना विधायक उमेश मलिक, चरथावल विधायक विजय कश्यप, पुरकाजी के पूर्व विधायक, पूर्व विधायक अशोक कंसल, वरिष्ठ नेता सुनील सिंघल ने बुके भेंट कर श्री रावत का स्वागत किया। श्री रावत ने कहा कि उत्तराखंड सही माने में उत्तर प्रदेश का छोटा भाई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार को छोटे भाई की मदद के लिये आगे आना होगा। 23 वर्ष बाद भी उत्तराखंड के शहीदों को न्याय नहीं मिला। इस मामले के सबूत मिटा दिए गए। इस प्रकरण से जुड़े गवाहों को रास्ते से हटा दिया गया। इस कारण उत्तराखंड सरकार सही पैरवी नहीं कर सकी। मुख्यमंत्री ने कहा कि रामपुर, सिसौना, मेघपुर और बागोवाली आदि गांवों के लोगों ने उस समय पहाड़ के आंदोलनकारियों की काफी मदद की थी। मुजफ्फरनगर वासियों ने हर समय उत्तराखंड के लोगों की मदद की है। इसका ऋण उत्तराखण्ड के लोग नहीं चुका सकते हैं। श्री रावत ने दो अक्टूबर 1994 को हुए रामपुर तिराहा काण्ड के दौरान उत्तराखण्ड के पीडि़तों की मदद करने के लिए ग्रामीणों का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि संकट की घडी में हम सभी एक हैं। इस अवसर पर उन्होंने सभी से एकजुटता के साथ रहने का आह्वान किया। इस अवसर पर उत्तराखंड भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, शिक्षा मंत्री दान सिंह रावत, रुड़की सीट से विधायक प्रदीप बत्रा, रुड़की के भाजपा अध्यक्ष कमला सैनी और बिजनौर लोकसभा सांसद कुंवर भारतेंदु उत्तराखण्ड के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष हरवंश कपूर, उत्तराखण्ड संघर्ष समिति के वरिष्ठ पदाधिकारियो ने भी शहीदों को श्रृद्धासुमन अर्पित किए। मुख्यमंत्री ने पंडित महावीर प्रसाद एवं अन्य ग्रामीणों के सहयोग के प्रति भी आभार प्रकट किया।
श्री रावत ने राज्य आंदोलनकारी चन्द्र शेखर जोशी, डबल सिंह नेगी, पुरूषोत्तम शर्मा, सुरेशानंद बसियाल, मती सुभागा खंडू, बृज मोहन सेमवाल, मती सावित्री देवी, जय वीर सिंह रावत, प्रमोद बडोनी, केवलानंद जोशी एवं मती भगवती देवी सहित राज्य आंदोलनकारियों की सहायता करने वाले क्षेत्रवासियों को अंगवस्त्र भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने पूर्व सांसद श्रीमती मालती शर्मा के आवास पर जाकर भेंट की और उन्हें राज्य आंदोलनकारियों की सहायता करने के लिए सम्मानित भी किया।

Share it
Top