सरकारी एम्बुलैंस के चालक की दबंग युवक ने की पिटाई

सरकारी एम्बुलैंस के चालक की दबंग युवक ने की पिटाई

खतौली। दबंग युवक द्वारा सरकारी एम्बुलेंस चालक की पिटाई किये जाने का मामला लखनऊ तक गूंजने के बावजूद पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध कार्यवाही करने के बजाये पीड़ित चालक पर दबाव बनाकर समझौता कराकर शासनादेश की धज्जियां उड़ा दी। जानकारी के अनुसार गाँव गालिबपुर से एक गर्भवती महिला को सरकारी अस्पताल लाये जाने के दौरान 102 एम्बुलेंस से जानसठ तिराहे पर भयंकर जाम लगे होने के चलते आगे खड़ी कार में मामूली खरोंच आ गयी थी। इस पर तैश में आये कार चालक युवक ने एम्बुलेंस चालक महेन्द्र व इएमटी मनोज के साथ बीच चौराहे पर मारपीट की थी। पीड़ित चालक द्वारा प्रसव पीडा से त्रास्त महिला को अस्पताल ले जाने से इन्कार करने पर मौके पर आयी कोतवाली पुलिस ने युवक के विरुद्ध कार्यवाही करने का आश्वासन देकर उसे आगे चलता किया था। बताया गया कि पीड़ित चालक द्वारा अपने साथ हुई मारपीट से अवगत कराने पर 102 एम्बुलेंस के जिला प्रभारी के लखनऊ शासन को सूचना देने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने आरोपी युवक के विरुद्ध कार्यवाही किये जाने के आदेश कोतवाली पुलिस को दिये थे। आरोप है कि इसके बावजूद पुलिस ने आरोपी युवक की हिमायत में आये कुछ नेताओं से साज खाकर पीड़ित एम्बुलेंस चालक को रंजिश का भय दिखाकर उससे समझौते की तहरीर पर हस्ताक्षर कराने के बाद मामला बिना किसी कानूनी कार्यवाही के रफा-दफा करा दिया। उल्लेखनीय है कि रोगी वाहन को मार्ग में बाधा पहुँचाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही किये जाने का शासनादेश है। बावजूद इसके कोतवाली पुलिस ने सरकारी एम्बुलेंस के चालक के साथ मारपीट करने वाले आरोपी युवक को बिना कोई कार्यवाही किये थाने से चलता कर दिया, जिससे सरकारी एम्बुलेंस के चालकों में रोष व्याप्त है।

Share it
Top