पिता ने ही पुत्र को मौत के घाट उतारा...बेटी की शादी की तैयारी के लिये घर में रखे रूपये जुए में उडाने पर था आक्रोशित

पिता ने ही पुत्र को मौत के घाट उतारा...बेटी की शादी की तैयारी के लिये घर में रखे रूपये जुए में उडाने पर था आक्रोशित

खतौली। बेटी की शादी की तैयारी के लिये घर में रखे रुपयों को जुए में उड़ाने से आक्रोशित पिता ने ही सिर में लट्ठ मारकर अपने लख्ते जिगर को मौत के घाट उतारा था। कोतवाली पुलिस ने आज आपराधिक प्रवृत्ति के युवक नौशाद हत्याकाण्ड का खुलासा कर हत्यारे पिता को जेल भेज दिया। बीती 22 सितम्बर की रात इस्लामनगर निवासी युवक नौशाद पुत्र रफीक की घर के अन्दर संदिग्ध परिस्थिति में हत्या हो गयी थी। मृतक युवक के पिता रफीक ने घर में घुसे तीन नकाबपोश बदमाशों पर नौशाद की हत्या करने का आरोप लगा अज्ञात में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने रफीक की तहरीर पर मुकदमा तो दर्ज कर लिया था, किन्तु उसकी बतायी कहानी पर विश्वास नहीं कर रही थी। तफ्रतीश के दौरान मृतक युवक के आपराधिक प्रवृत्ति का होने की बात पता चलने पर पुलिस ने रफीक को थाने बुलाकर सख्ती से पूछताछ की, तो उसने सारा सच उगल दिया। कोतवाल प्रीतम पाल सिंह ने खुलासा करते हुए बताया कि नौशाद छोटी मोटी चोरी के अलावा राहजनी की वारदातों को अन्जाम देने लगा था। एक माह बाद रपफीक की पुत्राी तमन्ना की शादी होनी थी, जिसकी तैयारी के लिये रफीक ने 2 लाख रूपये घर में रखे थे, जिन्हें चुराकर नौशाद जुए में हार गया था। 22 सितम्बर की रात को शराब पीकर लौटे नौशाद को पिता रफीक ने लानत मलानत की, तो बात बढ़ गयी। तैश में आकर रपफीक के सिर में लट्ठ मारने से नौशाद मिनटों में ढेर हो गया। नौशाद की मौत होने से परिजनों में कोहराम मच गया। अपने लख्ते जिगर जिगर की खून में लथपथ लाश देखकर रफीक रोया भी बहुत, मगर कानून के शिकंजे से बचने के लिये उसने पुलिस को गुमराह कर अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने आज नौशाद हत्याकाण्ड का खुलासा कर हत्यारे पिता रफीक को जेल भेज दिया है।

Share it
Top