मोमबत्ती जलाने को बाध्य हुए नागरिक...एक फैक्ट्री के खंभे टूट कर विद्युत विभाग की लाइन पर गिरे

मोमबत्ती जलाने को बाध्य हुए नागरिक...एक फैक्ट्री के खंभे टूट कर विद्युत विभाग की लाइन पर गिरे

मुजफ्फरनगर। बरसात के मौसम में एक ओर जहां लोग बारिश के चलते अपने घरों में कैद होकर रह गये। वहीं दूसरी ओर उन्हें बिजली व पानी को लेकर भी परेशानी का सामना करना पड़ा। स्थिति यह आ गयी कि लोगों को इनवर्टर के जमाने में भी पूरे दिन मोमबत्ती जला कर काम करना पड़ा। इसके साथ ही बिजली के न होने के चलते उन्हें पानी के लिए भी सरकारी नलों की ओर दौड़ लगाने पड़ी। शनिवार का दिन नगर के लोगों के लिए भारी रहा। पूरे दिन रह-रह कर जारी बारिश ने एक ओर जहां लोगों को घरों में रहने को बाध्य कर दिया। वहीं दूसरी ओर लोगों को बिजली के न होने के चलते पानी के समस्या से भी दोचार होना पड़ा। इसके साथ ही बिजली के न होने के चलते लोगों को इनवर्टर के जमाने में भी मोमबत्ती के सहारे अपने दिनचर्या के कार्य करने पड़े। भोपा रोड पर स्थित गांधी नगर के लोगों को पूरे दिन बिजली के दर्शन नहीं हो सके। जिसके चलते उन्हें पानी की समस्या को भी झेलना पड़ा। पानी के टैंक खाली होने के चलते लोगों ने सरकारी नलों की ओर दौड़ लगायी। जहां पर लोगों की भारी भीड़ एकत्रा हो गयी। इसके साथ ही इनवर्टरों के जवाब देने के चलते उन्हें दीपावली के स्थान पर पहले ही मोमबत्तियों को जलाने को बाध्य होना पड़ा। जब बिजली के विषय में शहर के एक्सईएन एके गुप्ता से जानकारी की गयी, तो मालूम हुआ के एक फैक्ट्री सिद्धबली की विद्युत लाइन के खंभे टूट कर विद्युत विभाग की मुख्य लाइन पर जा गिरे, जिसके चलते विद्युत सप्लाई बाधित होने से कुछ क्षेत्रा में इसकी आपूर्ति नहीं हो सकी। इसे देर शाम को सही करा दिया गया। जिसके बाद लोगों को विद्युत के दर्शन हो सके। इसके साथ ही सुभाषनगर के लोगों को भी पानी की समस्या से दो चार होना पड़ा। उन्हें भी सरकारी नलों की शरण में जाने को बाध्य होना पड़ा।

Share it
Top