खाप चौधरी ने किसान की आत्मदाह की घोषणा निरस्त कराई

खाप चौधरी ने किसान की आत्मदाह की घोषणा निरस्त कराई

बुढ़ाना। बकाया गन्ना भुगतान को लेकर पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक के नेतृत्व में किसानों का बजाज चीनी मिल भैंसाना के मेन गेट पर चल रहा धरना शनिवार को दसवे दिन भी जारी रहा। शनिवार को धरनास्थल पर वैल्ली के किसान शौबीर सिंह ने आत्मदाह की घोषणा कर रखी थी। बागपत जनपद के गांव दोघट से आए खाप चौधरी धर्मवीर पंवार ने किसान शौबीर का समझाकर उसकी आत्मदाह की घोषणा को निरस्त करने का आदेश सुनाया, तो मंच से शौबीर ने कहा कि वह अपने चौधरी की बात नहीं टालेंगे। इस पर आत्मदाह की घोषणा की घटना का पटाक्षेप हुआ। किसानों ने चीनी मिल पर क्रमिक धरना व अनशन जारी रखने का एलान किया। धरने पर पहुंचे एसडीएम कुमार भूपेन्द्र, सीओ हरिराम यादव ने पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक से घंटो वार्ता की। एसडीएम ने किसानों को बताया कि चीनी मिल अभी तक 53 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुका है। 30 सितम्बर तक 30 करोड़ रूपये का भुगतान और कर दिया जाएगा। बाकी का समस्त भुगतान 15 अक्टूबर तक दिलवाया जाएगा। हरेन्द्र मलिक ने एसडीएम से 7 अक्टूबर तक भुगतान दिलवाने की मांग की। मिल के अधिकारियों से हुई वार्ता के अनुसार मिल के अधिकारियों ने 7 अक्टूबर तक भुगतान देने में असमर्थता जाहिर की। मिल के अधिकारियों का कहना है कि इस दौरान बैंक की छुट्टियां होने तथा चीनी का स्टॉक न उठने के कारण उनके सामने समस्या आ जाएगी। चीनी मिल के अधिकारियों ने 20 अक्टूबर तक पूरा भुगतान देने की बात कही। दोनों पक्षों के बीच घंटो विचार-विमर्श होने के बाद वार्ता विपफल हुई। किसानों ने कहा कि जब तक उनका भुगतान नहीं होगा उनका धरना जारी रहेगा। धरनास्थल पर जगपाल सिंह, गुलाम मौहम्मद, मोमीन जौला, सोमपाल, विनोद, विकास त्यागी, रिफाकत व चौधरी धर्मवीर सिंह आदि ने अपने विचार रखे।

Share it
Top