खतौलीः घर में घुसकर बेखौफ बदमाशों ने की युवक की हत्या...मृतक युवक के परिजनों को बंध्क बनाकर कमरे में डाला

खतौलीः घर में घुसकर बेखौफ बदमाशों ने की युवक की हत्या...मृतक युवक के परिजनों को बंध्क बनाकर कमरे में डाला

खतौली। घर में घुसे बैखोफ बदमाशों ने युवक की हत्या कर सनसनी फैला दी। वारदात की सूचना से कोतवाली पुलिस में हडकम्प मच गया। मृतक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार मूल रूप से गांव मुजाहिदपुर निवासी रफीक धोबी बीते कई वर्षो से कस्बे के मौहल्ला इस्लामनगर में मकान बनाकर रह रहा है। बताया गया बीती रात रफीक अपने परिवार के साथ सोया हुआ था। रात्रि ढाई बजे किन्ही अज्ञात लोगों द्वारा अपने पुत्र नौशाद को आवाज देने पर रपफीक ने घर का मैन गेट खोल दिया, जिसके बाद तीन नकाबपोश बदमाश रफीक को धकिया कर घर में घुस गये तथा बदमाशों ने रफीक को तमंचा दिखाकर आतंकित करने के बाद बंधक बनाकर बैठक में डाल दिया। बताया गया कुछ देर रुकने के बाद बदमाश मेन गेट का कुंडा बाहर से बन्द कर फरार हो गये। बदमाशों के जाने के बाद रफीक बंधनमुक्त होकर घर के बरामदे में आया, तो अपने 24 वर्षीय पुत्र नौशाद का खून में लथपथ पडा शव देख उसकी चीख निकल गयी। रपफीक के शोर मचाने पर मौहल्ले में जाग हो गयी। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस ने मौके पर आकर जानकारी लेने के बाद इधर-उधर बदमाशों की तलाश की, किन्तु हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिला। बताया गया कि नौशाद की हत्या उसके सिर में कोई भारी चीज मारकर की गयी है। बाद में पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। सीओ राजीव कुमार व कोतवाल प्रीतमपाल सिंह ने वारदात स्थल का निरीक्षण करने के साथ ही परिजनों से देर तक पूछताछ की। मृतक के पिता रफीक की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके तफ्रतीश शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार पैंठ में पफेरी लगाकर कपड़ा बेचने वाले मृतक नौशाद का आपराधिक इतिहास है तथा पुलिस सभी बिन्दुओं पर जांच कर वारदात का शीघ्र अनावरण करने का दावा कर रही है। दूसरी और पूरे परिवार के बीच नौशाद की हत्या होना पुलिस के गले नहीं उतर रहा है। वारदात के समय रपफीक अपने मृतक पुत्रा नौशाद के आलावा सबसे छोटे पुत्र शहजाद व पुत्राी तमन्ना के साथ मकान के निचले हिस्से में तथा बड़े पुत्र दिलशाद व इरशाद अपने परिवारों के साथ उपरी मंजिल पर सोये हुए थे। घर में इतनी बड़ी वारदात होने की रफीक के अलावा किसी को भनक तक नहीं लगी। बताया गया कि मृतक नौशाद की 23 अक्तूबर को मेरठ बारात जानी थी।

Share it
Top