'जनपद को अपराध मुक्त बनाना प्राथमिकता'

जनपद को अपराध मुक्त बनाना प्राथमिकता

मुजफ्फरनगर। प्रमुख सचिव परिवहन/जनपद की नोडल अधिकारी श्रीमती आराधना शुक्ला ने आज विकास भवन में कानून व्यवस्था व विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियांे को निर्देश दिये कि शासन की मंशा के अनुरूप अपराधियों पर शिंकजा कसा जाये और जघन्य अपराधों कों जड से समाप्त किया जाये। उन्होंने कहा कि अपराधों को रोकने के लिए सभी आवश्यक उपाय किये जाये व एक्शन प्लान बनाया जाये। उन्होंने कहा निर्देश दिये कि कि जनपद को अपराध मुक्त बनाना है और अपराधियों पर कडाई के साथ शिकंजा कसा जाये। उन्होंने कहा कि अपराधी सलाखों के पीछे होने चाहिए। उन्होंने कहा कि एनएसए की कार्यवाही की जा रही है, जिससे अपराध में कमी भी आई है। उन्होंने कहा कि गुण्डा अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही हुई है।
प्रमुख सचिव ने कहा कि विवेचनात्मक कार्यवाही में तेजी लाई जाये, जिससे अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की उदासीनता न बरती जाये। उन्होंने यातायात व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसा माहौल बनाये और सतत प्रयास करें कि लोग स्वयं हेलमेट पहनना शुरू करें। उन्होंने निर्देश दिये कि भू माफया नहीं पनपने चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि कोई घटना प्रकाश में आती है, तो भू माफयाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही अमल ले लाई जाये। प्रमुख सचिव/ नोडल अधिकारी आराधना शुक्ला ने विकास कार्याे की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी अधिकारी केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुंचाना सुनिश्चत करे। उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों को बिजली की आपूर्ति, पेयजल एवं अन्य सभी आवश्यक बुनियादी सुंविधाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होेंने राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अन्तर्गत समूह को रिवाल्विंग पफंड आदि की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि मनरेगा योजना के अन्तर्गत ग्रामवासियों को जिनके जॉब कार्ड बने है, उन्ही से कार्य कराया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि शासन की योजनाए कैसी चल रही है, जमीनी हकीकत से रूबरू होने के लिए अधिकारी ग्रामवासियों से सीधे सम्पर्क करे।
प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि अधिकारियों की टीम गठित कर यह सुनिश्चत कराया जाये कि नहरों की टेल तक पानी पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने इसके लिए टीम गठित किये जाने के निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त जिला गन्नाधिकारी को गोष्ठियों के आयोजन के भी निर्देश दिये। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को क्रमिक लक्ष्य के सापेक्ष क्रमिक उपलब्धियां शत-प्रतिशत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विकास योजनाएं तेजी के साथ चलाई जाये और पूर्ण परियोजनाओं को सम्बन्धित विभाग केा हस्तगत कराया जाये। उन्होंने विकास कार्यो से सम्बन्धित सभी विभागोें की गहनता से समीक्षा की। जिलाधिकारी ने प्रमुख सचिव को आश्वस्त किया कि केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी लाभपरक व कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी पात्र व्यक्तियों को दिलाना प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि विकास के कार्याे को गति प्रदान की गई है। इस अवसर पर जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी, एसएसपी अनन्त देव तिवारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित सभी पुलिस अधिकारी व जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top