जिला मजिस्ट्रेट जीएस प्रियदर्शी ने सात अपराधियों को गैंगेस्टर में निरूद्ध किया

जिला मजिस्ट्रेट जीएस प्रियदर्शी  ने सात अपराधियों को गैंगेस्टर में निरूद्ध किया

मुजफ्फरनगर। जिला मजिस्ट्रेट जीएस प्रियदर्शी ने गैंगस्टर कार्यवाही में सात व्यक्तियों पर गैंग चार्ट का अनुमोदन किया हैं। उन्होंने बताया कि गैंगलीडर सचिन उपर्फ मोटा पुत्र रामफूल निवासी डाक खाने वाले गली थाना भोपा मुजफ्फरनगर का एक नाजायज सक्रिय गिरोह है, जिसमेें नीरज पुत्र वेदपाल निवासी बर्तन वाली गली थाना भोपा मुजफ्फरनगर तथा विक्की पुत्र धनपाल निवासी बर्तन वाली गली थाना भोपा मुजफ्फरनगर के साथ मिलकर एक सक्रिय गैंग बनाया हुआ है, जो क्षेत्र में सक्रिय है और अपने गैंग के सक्रिय सदस्य के साथ मिलकर अर्थिक व भौतिक लाभ की पूर्ति के लिए लूट/डकैती व अवैध अस्लाह रखने जैसे जघन्य अपराध करते है, जो भादावि के अध्याय 17 में वर्णित अपराधों में लिप्त रहते है, इन अभियुक्तों का जनता में भय व आतंक व्याप्त है, जिस कारण इनका जनता में इनका स्वछन्द विचरण करना जनहित में नहीं है। अभियुक्तगण के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट की धारा 2/3 गैगस्टर अधि. के अन्तर्गत कार्यवाही किये जाने हेतु गैंगचार्ट अनुमोदन किया है। उन्होंने बताया कि गैंगलीडर मौ. मुमताज पुत्र जियाउल हसन जापफरी निवासी ग्राम सिकन्दपुर थाना चरथावल मुजफ्फरनगर का एक नाजायज सक्रिय गिरोह है, जिसमेें मौ. अहसान पुत्र अमीर अब्बास निवासी सिकन्दपुर थाना चरथावल मुजफ्फरनगर के साथ मिलकर एक सक्रिय गैंग बनाकर अपने व अपने साथियों के द्वारा आर्थिक व भौतिक लाभ हेतु नाजायज शस्त्रों से लैस होकर आम जनता के लोगों के वाहन चोरी एवं पुलिस पर जान से मारने जैसे गम्भीर अपराध कारित किये गये है, जो भारतीय दण्ड विधान के अध्याय 16 व 17 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध किये है इन अपराधियों के द्वारा घटनाओं में चोरी किये गये वाहन व नाजायज शस्त्र बरामद किये गये है, इन अपराधियों की आपराधिक छवि एवं कृत्यों के कारण समाज के लोगों में भय व आतंक व्याप्त है। जनता का कोेई व्यक्ति इस गैंग के विरूद्ध गवाही देने का साहस नहीं कर पाता है। इस गैंग का जनता में स्वछन्द विचरण करना जनहित में उचित नहीं है। मौ. मुुमताज गैंगलीडर एवं इसके सदस्यों के विरूद्ध गैंगस्टर अधि. की धारा 2/3 के अन्तर्गत गैंग चार्ट अनुमोदन किया है। उन्होंने बताया कि गैंगलीडर नजर पुत्र नूरहसन निवासी शेरनगर थाना नई मंडी मुजफ्फरनगर द्वारा एक सक्रिय गैंग बनाया हुआ है, जो क्षेत्रा में सक्रिय है, जो अपने गैंग के सक्रिय सदस्य गयूर पुत्र न्याजूदीन निवासी शेरनगर थाना नई मंडी मुजफ्फरनगर के साथ मिलकर आर्थिक व भौतिक लाभ की पूर्ति के लिए चोरी जैसी घटना घटित करते है, जो भादवि के अध्याय 17 में वर्णित अपराधों में लिप्त रहते है। इन अभियुक्तों का जनता में भय व आतंक व्याप्त है, जिस कारण इनका जनता में स्वछन्द विचरण करना जनहित में उचित नहीं है। अभियुक्तगण के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट की धारा 2/3 गैगस्टर अधि. के अन्तर्गत कार्यवाही किये जाने हेतु गैंगचार्ट अनुमोदन किया है।

Share it
Top