लापता तीन वर्षीय बच्ची का शव मिलने से सनसनी

लापता तीन वर्षीय बच्ची का शव मिलने से सनसनी

कांधला। थाना क्षेत्र के गांव सुन्ना से तीन दिन पूर्व विद्यालय गई तीन वर्षीय लापता बच्ची का शव काली नदी से मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर एसपी ओर एएसपी ने भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर बच्ची के शव को नदी निकलवाया। पुलिस ने मृतक बच्ची के शव का पंचनामा भरकर पीएम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने गांव के हीं कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। थाना क्षेत्र के गांव सुन्ना निवासी हरेंद्र की तीन वर्षीय पुत्री गुडिया तीन दिन पूर्व अपने बड़े भाई पांच वर्षीय चीनू के साथ गांव के हीं प्राथमिक विद्यालय में पढऩे के लिए गई थी। विद्यालय की छुट्टी होने के बाद चीनू तो घर पर वापस आ गया था, लेकिन तीन वर्षीय गुडिया घर वापस नहीं आई थी। काफी तलाश करने के बाद भी गुडिया का कोई सुराग नहीं लग पाया था। बाद में पीडि़त परिजनों ने थाने पर गुडिया के अपहरण की आशंका जताते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने पीडि़त पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लापता बच्ची की तलाश शुरू कर दी थी। गुरूवार को ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी कि गांव डुंगर के निकट काली में एक बच्ची का शव पड़ा है। काली नदी में बच्ची का शव पड़ा होने की सूचना से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना पर एसपी डाक्टर अजयपाल शर्मा ओर एएसपी जगदीश शर्मा व थाना प्रभारी निरीक्षक ओपी चौधरी सहित भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे, ओर नदी से मृतक बच्ची का शव बाहर निकलवाया। मृतक बच्ची की शिनाख्त गांव सुन्ना निवासी हरेंद्र की तीन वर्षीय पुत्री गुडिया के रूप में हुई। बच्ची की हत्या की सूचना से परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने मृतक बच्ची के शव पंचनामा भरकर पीएम के लिए भेज दिया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रहीं है। मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक ओपी चौधरी का कहना है कि बच्ची की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को नदी में फेंक दिया गया है। संभवत बच्ची की तीन दिन पूर्व हीं हत्या की गई है। गांव के हीं कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रहीं है। शीघ्र हीं बच्ची की हत्या का खुलासा कर दिया जायेंगा।

Share it
Top