मुजफ्फरनगर: किसानों की समस्याओं का हल होगा समयबद्ध तरीके सेः अंकित कुमार

मुजफ्फरनगर: किसानों की समस्याओं का हल होगा समयबद्ध तरीके सेः अंकित कुमार

मुजफ्फरनगर। प्रभारी जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने कहा कि जनपदीय अधिकारी किसानों की समस्याओं को गम्भीरता से ले और संवेदनशील होकर समय सीमा के अन्तर्गत निस्तारण कर शिकायतकर्ता को अवगत करते हुए उप निदेशक कृषि को उपलब्ध कराये जिससे समस्याओं के निस्तारण के बारे में सम्बन्धित को अवगत करा सके। उन्होंने किसानों को उन्नतशील बीज एवं कृषि रसायन आदि की जानकारी भी उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग का दायित्व है कि फसल की बुआई के पहले ही कृषकों के मृदा परीक्षण कराया जाये और उन्हें कार्ड भी उपलब्ध कराया जाये, जिससे उन्हें यह जानकारी मिल सके कि उनके खेत को कितने उर्वरक की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुना करना है। उन्होंने कहा कि कृषि वैज्ञानिक पद्धति पर की जाये, जिससे अधिक उपज ली जा सकें।
प्रभारी जिलाधिकारी आज यहां जिला पंचायत सभागार में किसान दिवस के अवसर पर किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लघु/सीमांत कृषकों के सतत उन्नयन एवं विकास हेतु प्रदेश सरकार द्वारा अतिमहत्वपूर्ण योजना लागू की गयी है, जिसका लाभ पात्रा कृषकों को दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनपद के जिन कृषक द्वारा 31 मार्च 2016 तक व्यवसायिक, सहकारी अथवा क्षेत्रीय बैंक से पफसली ऋण लिया है और जिन कृषकों ने दिनांक 31 मार्च 2017 तक फसली ऋण बैंकों मे जमा कर दिया है उस जमा धन की धनराशि को घटाने के पश्चात जो ऋण की धनराशि अवशेष रह जायेगी ऐसे फसली ऋण में से एक लाख रूपये तक फसली ऋण छूट लघु/सीमांत कृषकों जिनकी जोत 2 हेक्टयर तक है को दी जानी है। उन्होंने डीसीओ को किसानों को बकाया गन्ना भुगतान तेजी के कराये जाने के निर्देश दिये।
प्रभारी जिलाधिकारी ने किसान दिवस में किसानों की समस्यायें सुनते हुए कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिले में खाद, बीज व कीटनाशक दवाईयों के विक्रेताओं की दुकानों व गोदामों का औचक निरीक्षण करें। उन्होंने निर्देश दिये कि कृषि विभाग किसानों के हित के लिए सक्रिय होकर कार्य करें। प्रभारी जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानों से सम्बन्धित चल रही योजनाओं का प्रचार-प्रसार कराया जाये तथा किसानों को योजनाओं का लाभ दिलाया जाये। उन्होंने कहा कि किसानों की राजस्व विभाग की समस्या को त्वरित रूप से निस्तारित कराया जाये। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि किसानों की समस्यायें सर्वोच्च प्राथमिकता पर निस्तारित करायेंगे। उन्होंने कहा कि फसली ऋण मोचन से लाभान्वित होने वाले किसानों की सूची बैंक शाखाओं एवं सहकारी समितियों पर चस्पा करायी जाये। प्रभारी जिलाधिकारी ने किसानों की समस्याओं को सुनकर उनके यथोचित निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने सभी समस्याओं पर प्रभावी एवं समुचित कार्यवाही करने के निर्देश सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को दिये। उप निदेशक कृषि ने सोलर पम्प योजना के बारे में किसानों को विस्तृत रूप से जानकारी देते हुए योजना का लाभ उठाने के बारे मे अवगत कराया। उन्होंने कहा कि स्प्रिकलर सैट सब्सिडी पर उपलब्ध कराये जाने की योजना जनपद के तीन ब्लॉक में चल रही है इसमें बघरा, चरथावल के किसान योजना का लाभ प्राप्त कर सकतें है। उन्होंने कहा कि लघु एवं सीमांत कृषकों को 90 प्रतिशत की छूट उपलब्ध करायी जा रही है और इस प्रकार अन्य कृषकों को 80 प्रतिशत छूट का लाभ दिया जा रहा है। इस अवसर पर उप निदेशक कृषि नरेन्द्र कुमार जिला कृषि अधिकारी, अधिशासी अभियंता विद्युत, जिला गन्ना अधिकारी, एआर को-ऑपरेटिव एवं अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

Share it
Top