इवान, डा. अनुराधा व डॉ. प्रमोद के सैन्टर पर आईटी के छापे...पैथोलोजी लैबों पर ताबड़तोड़ छापों से अन्यों में मचा हड़कंप, अधिकांश लैबों को बंद कर भागे

मुजफ्फरनगर। मंगलवार चिकित्सा से संबंधित कुछ लोगों के लिए मंगलकारी न होकर अमंगलकारी हो गया। मंगलवार को आयकर विभाग के निशाने पर पैथोलोजी लैब वाले रहे। जिसके चलते आयकर विभाग की तीन जनपदों की टीमों के द्वारा नगर में तीन स्थानों सहित दो अन्य स्थानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की गयी। जिसके चलते अन्य पैथोलोजी लैब वालों में हड़मंच गया। आनन-पफानन मंे अधिकांश तो अपनी लैबों का ताला बंद का चलते बने। इसके साथ ही आयकर विभाग के निशाने पर दो फैक्ट्री भी आयीं। आयकर विभाग के छापे की खबर नगर मंे जंगल की आग की भांति फैल गयी। पांचों ही स्थानों पर छापे की कार्यवाही को लेकर लोगों का भारी जमावड़ा लग गया था। छापे की कार्यवाही देर शाम तक जारी रही। वहीं दूसरी ओर आयकर अधिकारी छापे को लेकर मीडिया से किनारा करते हुए नजर आये।
मंगलवार को आयकर विभाग हरकत में आया। जिसके चलते उसके निशाने पर चिकित्सा विभाग से संबंधित लोगों के अलावा पफैक्ट्री वाले भी रहे। आयकर विभाग की ओर से नगर में तीन स्थानों पर ताबड़तोड छापेमारी की गयी। इसके साथ ही दो अन्य बाहरी स्थानों पर भी आयकर विभाग की ओर से छापेमारी की गयी। जनपद में मंगलवार को तीन जनपदों मुजफ्फरनगर, सहारनपुर व शामली के आयकर अधिकारियों का लाव-लश्कर पहंुचा। सभी टीमों का नेतृत्व संयुक्त आयकर आयुक्त आरकेंद्र सिंह द्वारा किया गया। सबसे पहले आयकर विभाग की एक टीम भोपा रोड स्थित ईवान हॉस्पिटल पहुंची। जहां पर उसने उसकी पैथोलोजी लैब पर छापेमारी की। टीम ने वहां से सभी आवश्यक कागजातों को अपने कब्जे में किया। इसके बाद दो टीमोें के द्वारा दोपहर तीन बजे महावीर चौक के पास स्थित डा. अनुराधा अग्रवाल की पैथोलोजी लैब अग्रवाल पैथोलोजी लैबोट्री हार्मोन सेंटर पर व उसके सामने चौधरी चरण सिंह मार्किट में स्थित डा. प्रमोद कुमार के भारती चैस्ट सेंटर पर छापेमारी की गयी। उक्त दोनों की स्थानों पर छापेमारी की कार्यवाही देर शाम तक जारी रही। यहां से भी टीमों के द्वारा सभी आवश्यक कागजातों को अपने कब्जे में लिया गया। दोनों ही स्थानों पर छापे की खबर पाते ही संबंधित कर्मचारियों में हड़कंप मच गया।
आयकर विभाग की टीमों के द्वारा कर्मचारियों से किसी भी प्रकार की जानकारी देने से मना कर दिया गया था। तीनों ही स्थानों पर छापे की कार्यवाही के दौरान लैब मालिक व डाक्टर के न मिलने को लेकर भी तरह-तरह के कयास लगाये गये। बात यहां तक आयी कि क्या आईटी के छापे की खबर लीक हो गयी थी, जिसके चलते तीनों ही स्थानों से मालिक व संचालक गायब मिले। छापे की खबर पाकर भी मालिकों का वहां पर न आना भी चर्चा का विषय बना।
इसके अलावा सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग की ओर से नगर के बाहर भी दो स्थानों पर छापेमारी की गयी। जिसमंे भोपा रोड स्थित सिल्वर टोन पेपर मिल व टिकौली शुगर पर भी छापेमारी की गयी। यहां पर भी हड़कंप की सी स्थिति रही। दोनों ही स्थानों से टीम के द्वारा आवश्यक कागजातों को अपने कब्जे मंे लिया गया। इसके अतिरिक्त सूत्रों का कहना था कि आयकर टीम के द्वारा टिकौला शुगर मिल के दिल्ली स्थित कार्यालय पर भी आईटी के द्वारा छापेमारी की गयी। आईटी के नगर सहित बाहर मारे गये छापों की खबर जनपद में आग की भांति फैल गयी। हर कोई छापे वाले स्थानों पर जाकर जानकारी को बेताब नजर आया। डा. प्रमोद के यहां पर छापेमारी की कार्यवाही करने वालों में गणेश गुप्ता आयकर निरीक्षक, रजनीश रस्तोगी आयकर निरीक्षक, एके सहगल आयकर अधिकारी सहित पुलिस बल रहा।

Share it
Top