भूमाफिया पर कार्यवाही न करना ईओ को पडा भारी...डीएम ने दिये अधिशासी अधिकारी के विरूद्ध शासन को पत्र लिखने के निर्देश

भूमाफिया पर कार्यवाही न करना ईओ को पडा भारी...डीएम ने दिये अधिशासी अधिकारी के विरूद्ध शासन को पत्र लिखने के निर्देश

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने कहा कि अभियान चलाकर सरकारी सम्पत्तियों पर अवैध कब्जे चिन्हित कर तत्काल हटाये जाये और भू माफियाओं को चिन्हित कर कार्यवाही की जाये। उन्होंने सभी एसडीएम को कडे निर्देश दिये कि भू-माफिया एन्टी टास्क फोर्स की नियमित बैठक करें तथा बैठक में की गई कार्यवाही से अवगत कराये। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी विभाग यह सुनिश्चित करें कि उनकी भूमि पर यदि अवैध कब्जा/अतिक्रमण है तो उसे प्राथमिकता पर हटवाया जाये। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों तथा इनकी अधिकारिता में आने वाले सरकारी एवं अधर्् सरकारी, निकाय, प्राधिकरण, निगम/उपक्रम तथा पंचायत की भूमियों पर अतिक्रमण एवं अवैध कब्जों को हटवाये जाने के सम्बन्ध में विस्तृत दिशा-निर्देश समय-समय पर शासन द्वारा दिये गये। उन्होंने कहा कि उक्त कार्य में उदासीनता/शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिये कि प्रोपर्टी रजिस्टर का नियमित सत्यापन किया जाये।
जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी शाहपुर के खिलाफ सम्बन्धित प्रकरणों की समुचित जानकारी एवं प्रकरणों में प्रभावी कार्यवाही न करने पर शासन को पत्र प्रेषित किये जाने के निर्देश दिये साथ ही 1 सप्ताह में कार्यवाही कर आख्या प्रस्तुत किये जाने के निर्देश भी दिये। जिलाधिकारी ने अन्य उपस्थित अधिशासी अधिकारियों को कडी फटकार लगाते हुए कहा कि भू माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाकर 1 सप्ताह में लिखित रिपोर्ट में अवगत कराये अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहे। उन्होंने कहा कि बार बार कहने के बावजूद भी कार्य में प्रगति नहीं हुई है। इसलिए अगली बैठक से पूर्व भू माफिया चिन्हित कर उन पर कार्यवाही कराई जाये। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी के बैठक में उपस्थित न होने पर चेतावनी जारी करने के निर्देश देते हुए कहा बीएसए व जिला विघालय निरीक्षक से भूमि अतिक्रमण के सम्बन्ध में रिपोर्ट ली जाये। और अगली बैठक में एनएचएआई व एनएच के अधिकारियों को भी बैठक में बुलाया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकारी जमीन, चरागाह, तालाब एवं ग्राम पंचायतों की जमीन पर अवैध कब्जा/अतिक्रमण नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे कब्जाधारकों के खिलाफ कडी कार्यवाही कर सीधा अमल में लाई जायेगी। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी आज जिला पंचायत सभागार में जिला स्तरीय एन्टी भू-माफिया टास्क फोर्स समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जहां भी अतिक्रमण या कब्जा है सम्बन्धित विभाग एफआईआर दर्ज कराये और पुलिस पफोर्स प्राप्त कर कब्जा हटवाना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने पीडब्ल्यूडी, सिंचाई विभाग की जमीनों पर अवैध कब्जों/अमिक्रमण की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यदि कब्जाधारक स्वतः कब्जा/अतिक्रमण नहीं हटाते है, तो उनके खिलाफ एफआईआर/पीपीएक्ट के अन्तर्गत कार्यवाही करें। जिलाधिकारी ने तहसील स्तर सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक किये जाने के निर्देश उप जिलाधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि तहसील स्तरीय बैठक में आवश्यक रूप से सभी विभागों के अधिकारी प्रतिभाग करें और सबसे पहले बडे रकबे पर अवैध अतिक्रमण और हटवाने की कार्यवाही अमल में लाये। उन्होंने कहा कि अवैध कब्जा हटवाने के लिए बुल्डोजर ले और पुलिस पफोर्स की मांग कर प्राथमिकता पर अतिक्रमण/अवैध कब्जे हटवाये। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत की भूमि पर तारबन्दी करायी जाये और बोर्ड भी लगवाये जाये। उन्होंने उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि तालाबों पर अवैध कब्जा/अतिक्रमण हटाने के लिए बीडीओ को भी साथ बैठाये और कब्जा हटाकर तालाब की खुदाई भी कराना सुनिश्चित करेें, जिससे पुनः अतिक्रमण की शंका न रहे।
एसएसपी अनन्तदेव तिवारी ने कहा कि अवैध कब्जा/अतिक्रमण हटवाये जाने के लिए पर्याप्त मात्रा में पुलिस फोर्स उपलब्ध करायी जायेगी। सम्बन्धित विभाग सम्बन्धित थानाध्यक्ष को अवगत कराये पुलिस प्रशासन का भरपूर सहयोग मिलेगा। उन्होंने कहा कि अवैध कब्जाधारकांे के खिलापफ एपफआईआर कराये, जिससे उनके खिलाफ प्रभावी और समुचित कार्यवाही की जा सकें।
बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन हरीशचन्द्र, एसपी सिटी, एसपी देहात, उप जिलाधिकारी/तहसीलदार, एएमए एवं एमडीए/सिंचाई पीडब्ल्यूडी एवं अन्य सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

Share it
Top