खतौली पुलिस ने किया ईनामी जानू ढेर...पौ फटते ही हाईवे पर घेरकर मुठभेड में मौत के घाट उतार दिया शातिर बदमाश

खतौली पुलिस ने किया ईनामी जानू ढेर...पौ फटते ही हाईवे पर घेरकर मुठभेड में मौत के घाट उतार दिया शातिर बदमाश

खतौली। हत्या, लूट, डकैती व रंगदारी के मुकदमों में आधा दर्जन थानों से वांछित चल रहे 12 हजारी शातिर बदमाश जान मौहम्मद उर्फ जानू निवासी गाँव दोघट थाना बागपत को कोतवाली पुलिस ने रविवार को पौ फटते ही हाइवे पर घेरकर मुठभेड में ढेर कर दिया। मुठभेड के दौरान मृतक बदमाश का साथी पुलिस को चकमा देकर ईख के खेत में घुसकर फरार हो गया, जबकि कोतवाली के दो सिपाही मुठभेड में घायल हो गये। पुलिस ने मृतक बदमाश के पास से एक पिस्टल, हाईवे से लूटी एक स्विफ्ट कार व भारी मात्रा में कारतूस बरामद किये है। मुठभेड के पश्चात कोतवाल प्रीतम पाल सिंह को शाबाशी देने मोके पर पहुँचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्तदेव तिवारी को ग्रामीणों ने अपने कंधों पर उठाकर पुलिस का इकबाल बुलंद करने के लिये उनकी जमकर सराहना की। चार दिन पूर्व कोतवाली पुलिस ने ग्राम भैंसी के जंगल में हुई मुठभेड में शातिर बदमाश सुलतान उर्फ कल्लू निवासी पाबली खास थाना कंकरखेडा मेरठ को लंगड़ा करने के बाद गिरफ्तार कर जेल भेजा था, जबकि उसका साथी बदमाश जान मौहम्मद उर्फ जानू पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। रविवार प्रातः कोतवाल प्रीतम पाल सिंह को सूचना मिली कि स्विफ्रट कार सवार दो बदमाश किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की नियत से मेरठ से मुजफ्फरनगर की और आ रहे है। सूचना पर कोतवाली पुलिस ने भंगेला चेक पोस्ट फील्डिंग लगाकर वाहन चैकिंग प्रारम्भ कर दी। कुछ देर बाद बिना नम्बर की स्विफ्रट कार को कोतवाली पुलिस ने रुकने का इशारा किया, तो चालक मौके से पफरार हो गया। पीछा करने पर कार सवारों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। कोतवाली पुलिस ने हाईवे स्थित गाँव तिगाई के सामने स्विफ्ट कार की घेराबंदी करके जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। बदमाशों व पुलिस के बीच हुई पफायरिंग से ग्रामीणों में हडकम्प मच गया। बदमाशों की तरपफ से फायरिंग बन्द होने पर पुलिस कार के पास पहुंची, तो ड्राईविंग सीट पर एक बदमाश मृत पडा मिला, जबकि उसका साथी बदमाश पास स्थित ईख के खेत में घुसकर फरार हो चुका था। पुलिस ने फरार बदमाश की देर तक खेतों में तलाश की, किन्तु उसका सुराग नहीं मिला। मुठभेड में कोतवाली के दो सिपाही सोहनबीर व दीपक घायल हो गये, जिन्हें पुलिस ने सरकारी अस्पताल ले जाकर उपचार दिलाया। मृतक बदमाश की शिनाख्त 12 हजारी जान मौहम्म्द उर्फ जानू के रूप में होने पर कोतवाल प्रीतम पाल सिंह की बांछे खिल गयी। तथा उन्होंने जानू के मुठभेड में मारे जाने से तुरन्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्तदेव तिवारी को अवगत कराया। कोतवाल प्रीतम पाल सिंह ने बताया कि मुठभेड में मारा गया बदमाश जान मौहम्म्द थाना खतौली, कंकरखेडा, दोघट, फलावदा, पफुगाना आदि से लूट, हत्या, डकैती व रंगदारी के 22 मुकदमों में वांछित चल रहा था। उन्होंने बताया कि मृतक बदमाश के पास से एक पिस्टल व भारी मात्रा में कारतूस बरामद होने के अलावा जो स्विफ्ट कार मिली है, वो कुछ दिन पहले बदमाशों ने सकौती के पास हाईवे से लूटी थी। उन्होंने बताया कि मृतक बदमाश के मोबाईल फोन की कॉल डिटेल से फरार बदमाश का नाम पता जानने का प्रयास पुलिस कर रही है। बाद में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्तदेव तिवारी ने मोके पर आकर मुठभेड में शामिल रहे पुलिसकर्मियों की पीठ थपथपाकर लगातार गुडवर्क करने के लिये कोतवाल प्रीतम पाल सिंह को शाबाशी दी। इस दौरान ग्रामीणों ने एसएसपी को अपने कंधों पर उठाकर समाज में पुलिस का इकबाल बुलंद करने के लिये हर्ष व्यक्त किया। इस अवसर पर एसएसपी अनन्तदेव तिवारी ने कहा कि समाज में कानून का राज स्थापित करना पुलिस की प्राथमिकता में है तथा अपराध करने वाले अब बख्शे नहीं जायेंगे।

Share it
Top