बीएसए ने किया कस्तूरबा बालिका विद्यालय का निरीक्षण

बीएसए ने किया कस्तूरबा बालिका विद्यालय का निरीक्षण

मुजफ्फरनगर। बेसिक शिक्षा अधिकारी चन्द्रकेश यादव ने आज डायट परिसर के कस्तूरबा बालिका विद्यालय में पहुंचकर विद्यालय के सुरक्षा मानकों आग बुझाने के उपकरण व सापफ पीने के पानी की जांच की। उन्होने वार्डन को निर्देश दिये कि आग से बचाव के उपकरण व पीने के पानी की टंकी के रखरखाव व साफ-सफाई को लेकर उनका रिकार्ड रखा जाये व तारीख डाली जाये कि उनकी जांच कब-कब हुई। उन्होंने बताया कि अब इस बारे में जिले के सभी कस्तूरबा विद्यालयों व अन्य सभी सरकारी व मान्यता प्राप्त विद्यालयों को दिर्नेश जारी कर दिये गये है कि पानी के टैंक व आग बुझााने व अन्य सुरक्षा मानक जैसे बिजली के तारों में कट आदि की जांच हो व अन्य उपकरणों की समय समय पर विद्यालय स्टाफ जंाच कर उसकी साफ सफाई व सही उपयोग में चलने की एक रजिस्टर बनाकर तारीख लिखे। उन्होंने कहा कि बच्चों के किसी की सुरक्षा के मानक में कहीं चूक नहीं हो पाये। बाद में उन्होंने विद्यालय में बालिकाओं को काफी देर तक रोचक तरीके से पढ़ाते हुए उन्हें सामान्य ज्ञान से लेकर गणित विज्ञान को समझने की बेहतर समझ विकसित की। बीएसए चन्द्रकेश यादव ने शनिवार को डायट परिसर के कस्तूरबा बालिका विद्यालय का निरीक्षण किया ओर काफी देर बच्चों को विज्ञान गणित व ज्ञान बाते बताते हुए कई बाते पूछी। बालिकाओं से उन्होंने कहा कि वो देश में मेहनत के साथ नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि अच्छे बुरे को पहचाने ओर अपनी हर बात अध्यापकों से शेयर करें। अध्यापक एक माता-पिता की तरह उनके अभिभावक की भूमिका में है। बच्चों से रोचक तरीके से सवाल जवाबों में बच्चों ने जमकर पढ़ाई में आनंद लिया। उन्होंने कुरुक्षेत्र शहर का जिक्र कर उसके बारे में पूछा, तो कभी गणित के सवालों की ओर बच्चों के मन को लेकर आये। बीएसए ने बताया कि कस्तूरबा आवासीय स्कूल के साथ ही हर विद्यालय में पीने के पानी की टंकी व आग बुझाने के उपकरणों की जांच कर उनकी तारीख लिखे। इस आदेश का सभी सरकारी व गैर सरकारी विद्यालय पालन करेंगे, मान्यता प्राप्त विद्यालय भी कोई लपारवाही न छोडे, जिससे की बच्चों को सुरक्षित वातावरण मिले।

Share it
Top