शिव चौक से नावल्टी चौराहे तक रोड ब्लॉक

शिव चौक से नावल्टी चौराहे तक रोड ब्लॉक

मुजफ्फरनगर। रूडकी रोड पर हो रहे रोड ब्लॉक के चलते काम ने शहर की काया ही पलट कर रख दी है। जिसके चलते शहर में जाम ही जाम नजर आ रहा है। जो कि आम जनता के लए परेशानी का सबब बन गया है। जीटी रोड पर गहरी सीवर लाइन को जोड़ने के कार्य के चलते शुक्रवार को पूरा शहर जाम के दंश से कराहता नजर आया। कई दिनों से शिव चौक से नावल्टी चौराहे तक यातायात बाध्ति चल रहा था, लेकिन शुक्रवार सुबह से दोनों चौराहों के बीच यातायात का आवागमन बेरिकेडिंग कर बंद कर दिये जाने से पूरा शहर जाम के झाम से जूझता दिखा। शिवचौक को लोगों ने पार्किंग में तब्दील कर दिया। सवेरे से ही शहर में जाम का सिलसिला शुरू हो गया, जो दिनभर कायम रहने के कारण लोगों को आवागमन में भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बेरिकेडिंग के बावजूद भी सीवर लाइन पर कार्य नहीं किया गया, कई दिनों तक शहर को इस गंभीर समस्या से जूझना पड़ सकता है। शहर में अमृत शहरी मिशन के अन्तर्गत पुरानी सीवर लाइन को खोज कर उनको चालू करने का काम चल रहा है। जल निगम के द्वारा सीवर लाइनों को पुनः स्थापित करने का कार्य कराया जा रहा है। पिछले सप्ताह से शिव चौक से नावल्टी चौराहे की ओर जीटी रोड पर जल निगम के द्वारा पुरानी सीवर लाइन को खोजकर उसको जोड़ने का काम शुरू किया गया था। शहर कोतवाली के सामने दो स्थानों पर सीवर करीब तीस पफुट गहराई में मिले। यहां जल निगम ने सीवर बनाने के बाद पाइप डालने का कार्य शुरू किया। कई दिनों से यहां यातायात बाध्ति चल रहा था। शुक्रवार एक साइड से यातायात चलने के कारण निर्माण कार्य में भी परेशान उठानी पड़ रही थी, वहीं जाम की समस्या भी विकराल होती जा रही थी। इसको देखते हुए शुक्रवार को शिवचौक और नावल्टी चौराहे पर बेरिकेडिंग कर दी गयी। इससे दोनों चौराहों के बीच यातायात का आवागमन बन्द हो जाने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शिवचौक जाने के लिए लोगों को सर्रापफा बाजार, आबकारी रोड या पिफर अंसारी रोड से होकर गुजरना पड़ा। वहीं अस्पताल चौराहे पर जाने के लिए लोगों को भगत सिंह रोड, अंसारी रोड से होकर जाना पड़ा। शहर के बीचोबीच रास्ता बंद हो जाने के कारण पूरे शहर को जाम का दंश झेलना पड़ा। शहर में सभी मुख्य मार्गों पर पूरी तरह से जाम ही जाम मिलने से लोगों को छोटी गलियों से रास्ता चुनने को मजबूर होना पड़ा। जाम का सिलसिला सवेरे से ही शुरू हो गया था, लेकिन एक बजे के बाद कई घंटों तक जाम विकराल समस्या बन गया। इस दौरान शहरी स्कूल-कालेजों में छुट्टी होने के कारण यातायात का दबाव सड़कों पर ज्यादा नजर आया, लेकिन रास्ते बंद होने से स्कूली छात्रा-छात्राओं को भी जाम का सामना करना पड़ा।

Share it
Top