शासन-प्रशासन पर लगाया गरीब जातियों का उत्पीड़न का आरोप

शासन-प्रशासन पर लगाया गरीब जातियों का उत्पीड़न का आरोप

मुजफ्फरनगर। बरला निवासी पूनम कश्यप पत्नी पवन कश्यप की बलात्कार के बाद हत्या के मामले में विरोध स्वरूप कश्यप समाज आरक्षण संघर्ष मोर्चा, भारतीय अखंड पार्टी व मजदूर किसान यूनियन पार्टी के नेतृत्व में चल रहा धरना मंगलवार को आठवें दिन भी जारी रहा। धरने पर बैठे नेताआंें ने आरोप लगाते हुए कहा कि धरना देते आठ दिन हो चुके हैं, लेकिन शासन-प्रशासन के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी है। उन्होंने प्रशासन को चेताया कि अगर दोषी राजकुमार त्यागी की शीघ्र गिरफ्तारी नहीं की गयी, तो समाज के लोग एक बड़ा आंदोलन करने को बाध्य होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी है, पिफर भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि दोषी को अविलंब गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए, बलात्कार की धारा 376डी को जोड़ा जाए तथा मृतका की परिजनों को मुआवजा 20 लाख दिलाया जाए। ताकि उसके परिवार की गुजर-बसर हो सके। इसके साथ ही परिवार की सुरक्षा भी की जाए। चौधरी मोतीराम कश्यप संयोजक कश्यप समाज आरक्षण मोर्चा ने कहा कि सरकार कमजोर जातियों को दबंगों के द्वारा उत्पीड़न कराने मंे सहयोग कर रही है। उनका कहना था कि शासन-प्रशासन दबंग व उच्च जातियों के द्वारा कमजोरों पर हो रहे हत्या, बलात्कार जैसे अत्याचारों के मामले में कार्यवाही करने में हीलाहवाली करता है। हत्या-बलात्कार जैसे मामलों में भी जांच को बहाना बनाये रहते हैं। दोषियों को खुली छूट दी जाती है। यदि ऐसा ही मामला किसी गरीब जाति के लोगों के द्वारा किसी दंबग जाति के साथ हो जाता, तो शासन-प्रशासन सभी हाहाकार मचा देते। उनके निर्दोष लोगोें को भी बिना किसी जांच के जेल भेज दिया जाता। यहां पर दोहरा कानून काम करता है। उनका कहना था कि अगर हिंसात्मक आंदोलनों से से ही शासन प्रशासन जागता है, तो उन्हेें मजबूरन ऐसा ही आंदोलन करने को बाध्य होना होगा। धरने को आज ठाकुर दिनेश पंुडीर, कालूराम कश्यप व प्रदीप कश्यप जिला पंचायत सदस्य ने भी संबोधित किया। धरने की अध्यक्षता कालूराम कश्यप ने की तथा संचालन चौ. मोतीराम कश्यप द्वारा किया गया। धरने पर कश्यप समाज के राजू कश्यप, बबलू, रामधन कश्यप एडवोकेट, प्रदीप कश्यप, पवन कुमार कश्यप, शुभम, अजय, मनोज, राजू, वेदपाल, अर्जुन, अंकित, नरेश, राहुल, मौ. साजिद, डा. बिट्टू, छोटे खां, अनिल, पूनम, कौशल्या, संजोग, बबीता, आरती, बाला, अनीता, मूर्ति, शकुंतला, ममता, सुशीला, काजल, मुनेश, अक्षय, अशोक, पफेरू सिंह, ऋषिपाल, सुनील कुमार आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top