मुजफ्फरनगर: बर्ड फ्लू की अफवाहों पर न दें ध्यानः सीडीओ

मुजफ्फरनगर: बर्ड फ्लू की अफवाहों पर न दें ध्यानः सीडीओ

मुजफ्फरनगर। मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने कहा कि जनपद में बर्ड फ्लू का कोई प्रभाव नहीं है, फिर भी हमे सतर्क रहने की जरूरत है विशेषकर पशुपालन विभाग के अधिकारी जिले में पोल्ट्री फार्म (कुक्कुट फार्म) के स्वामियों से सम्पर्क स्थापित कर उन्हें बचाव के उपायों के सम्बन्ध में जागरूक करें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि इन कुक्कुट फार्मों में अधिक संख्या में कुक्कुट मौजूद रहते हैं, इसलिए सम्बन्धित फार्मों की साफ-सफाई की बहुत अधिक जरूरत है, क्योंकि हर रोज कुक्कुट जिले से अन्य जिलों को भेजे जाते है तथा अन्य जनपदों से हमारे जिले में भी कुक्कुट आते हैं, इस कारण पोल्ट्री फार्मों को बहुत अधिक चौकसी बरतनी होगी। मुख्य विकास अधिकारी ने वन विभाग, सिंचाई विभाग व पशु पालन विभाग के अधिकारियों को जागरूक रहने के निर्देश देते हुए कहा कि जलाशयों के समीप आने वाले प्रवासी पक्षियों पर विशेष नजर रखने की जरूरत है, वन विभाग व सिंचाई विभाग के अधिकारी व कर्मचारी नहरों व जलाशयों के निकट मरे पाये जाने वाले पक्षियों की सूचना पशु विभाग के अधिकारियों को तुरन्त दें, ताकि इसकी जांच समय से कराई जा सके। उन्होंने कहा कि नहरों व जलाशयों के निकट कुक्कुट फार्मों के स्वामियों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जिला मुजफ्फरनगर व अन्य आसपास के जिलों में बर्ड फ्लू का कोई भी असर नहीं है, इसलिये किसी भी प्रकार की अफवाह पर जनता को ध्यान देने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि 100 डिग्री बॉयल करने पर इसका वायरस स्वयं नष्ट हो जाता है, इसलिये किसी प्रकार की अफवाह न फैलाई जाये, सिर्फ जागरूक रहने की जरूरत है।
मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल आज विकास भवन में बर्ड फ्लू से बचने हेतु आवश्यक सावधानियां बरतने सम्बंधी बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। मुख्य विकास अधिकारी ने पशु चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिये कि कुक्कुट पालक फार्मों के स्वामियों से सम्पर्क कर लें व नियमित जांच करें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि बर्ड फ्लू की स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटैक्टिव किट पशुपालन विभाग को उपलब्ध हो गये हैं, जहां भी समूह में बर्ड मरने की जानकारी किसी को मिलती है, तुरन्त सूचित करें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि कुक्कुट एवं कुक्कुट उत्पादों के प्रवेश पर कडी निगरानी व सतर्कता रखने की जरूरत है, विशेषकर जनपद में जन सामान्य को पशु विभाग के अधिकारी जागरूकता अभियान शुरू करें। बैठक में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी हरपाल सिंह, डीडीएम नाबार्ड, सभी ब्लकों से पशु चिकित्साधिकारी व कुक्कुट पालन फार्म के अनेक स्वामी/संचालक भी मौजूद थे।

Share it
Top