भूलेख मेपिंग का सत्यापन कार्य शीघ्र पूर्ण होः एडीएम-एफ

भूलेख मेपिंग का सत्यापन कार्य शीघ्र पूर्ण होः एडीएम-एफ

मुजफ्फरनगर। अपर जिलाधिकारी वि/रा सुनील कुमार सिंह ने कहा कि समस्त डीसी अगले चरण के लिए अर्ह/अनर्ह किये जाने वाले कृषकों की सूची, कृषकवार आईडी नम्बर एवं अर्ह/अनर्ह करने के स्पष्ट कारण का उल्लेख करते हुए समिति के समक्ष प्रस्तुत करें। उन्होंने निर्देश दिये कि भू-लेख मैपिंग के सत्यापन का कार्य यदि बाकि है, तो आज ही पूर्ण करा लिया जाये। उन्होंने बताया कि लघु एवं सीमांत कृषकों के उन्नयन एवं सतत् विकास हेतु संचालित फसल ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत 11 हजार 147 कृषकों के खाते में धनराशि हस्तान्तरित हो गयी है। उन्होंने बताया कि इन कृषकों को जनपद एवं तहसील स्तरीय कैम्प आयोजित कर प्रभारी मंत्राी, सांसद, विद्यायकगण आदि जनप्रतिनिधियों के माध्यम से ऋण मोचन प्रमाण पत्रा वितरित कराये जायेंगे। उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय आयोजित होने वाले कैम्प में 5 हजार पात्र/अर्ह कृषकों को ऋण मोचन प्रमाण पत्र उपलब्ध कराये जायेंगे। इसके अतिरिक्त तहसील स्तरीय कैम्प आयोजित कर ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरित होंगे। अपर जिलाधिकारी वि/रा आज यहां कलैक्ट्रेट सभागार में फसली ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत आगामी चरणों की तैयारी एवं ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरण तथा आधार कार्ड सिडिंग एवं भू-लेख मैपिंग के सम्बन्ध में बैंक समन्यवकों के साथ प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि फसली ऋण मोचन योजना सरकार की अति महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी योजना है। उन्होंने कहा कि संवेदनशील होकर आज ही अपना भू-लेख मैपिंग एवं आधार सीडिंग का कार्य पूर्ण कर ले। उन्होंने बताया कि ऋण मोचन प्रमाण पत्रा स्क्राल फीड होने के उपरान्त डीएलसी लॉगिन से प्रिन्ट होंगे। उन्होंने सभी बैंक समन्वयकांे को निर्देशित किया कि लिपिकीय त्राुटिवश डाटा, कृषकों द्वारा विभिन्न शाखाओं से एक ही भूमि एवं एक ही फसल पर लिए गये ऋण सम्बन्धी डुप्लीकेसी के प्रकरण का निस्तारण करें प्राथमिकता पर करना सुनिश्चित करें। अपर जिलाधिकारी वि/रा ने कहा कि कृषकों के खाते को आधार कार्ड से लिंक करने की प्रगति अपेक्षाकृत कम है। उन्होंने जिला समन्वयकों एवं अग्रणी जिला प्रबन्धक को निर्देश दिये कि जिन बैंक शाखाओं की प्रगति कम है उन शाखाओं के प्रबन्धक एवं फील्ड ऑ0 प्रगति के सम्बन्ध में समीक्षा करें और इस कार्य को शासन द्वारा निर्धारित समय के अनुरूप पूर्ण किया जाना है। उन्होंने भूलेख मैपिंग के सत्यापन कार्य की भी समीक्षा की और निर्देश दिये कि अब इसमें विलम्ब न किया जाये और इस कार्य को आज ही पूर्ण किया जाये। उन्होंने कहा कि यदि आधार कार्ड फीडिंग का कार्य समय सीमा में पूर्ण नहीं होगा, तो उसके लिए ब्रांच मैनेजर उत्तरदायी होंगे। अपर जिलाधिकारी ने शिकायतों के सम्बन्ध में बैंक समन्वयकों को निर्देश दिये कि निस्तारण की मॉनिटरिंग स्वयं करें और एक रजिस्टर अपने पास रखें जिसमें शिकायतों की निस्तारण का ब्यौरा दर्ज हो। उन्होने कहा कि ब्रांच मैनेजर तहसील में भी डाटा में अद्यतन कर ले। उन्होंने तहसीलों को निर्देश दिये कि तहसील स्तर पर दो दिन के अन्दर सत्यापन का कार्य पूर्ण कर लिया जाये। इस अवसर पर जिला कृषि अधिकारी, एलडीएम, समस्त बैंक समन्वयक आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top