गर्भवती महिला व बच्चे की प्रसव के दौरान मौत...परिजनों ने हंगामा करते हुए तोडफोड़ की

बुढाना। एक निजी नर्सिंग होम पर गर्भवती महिला की प्रसव के दौरान बच्चे समेत मौत हो जाने पर परिजनों ने जमकर हंगामा किया। गुस्साए परिजनों व ग्रामीणों ने नर्सिंग होम में तोडफोड़ कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बामुश्किल महिला चिकित्सक को सुरक्षा में बाहर निकाला। पुलिस के समझाने पर ग्रामीण शांत हुए। गांव जौला निवासी मुजम्मिल की पत्नी सन्नो सोमवार से कस्बे के भारसी बस स्टैंड पर एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती थी। परिजनों के अनुसार गभर्वती महिला को मंगलवार को अपने आप को चिकित्सक कहने वाली सुमन चौधरी प्रसव के लिए दूसरे कमरे में ले गई। उसके बाद सुमन चौधरी ने गर्भवती महिला की हालत खराब होना बताकर उसे ले जाने को कहा। परिजनों ने देखा कि महिला व बच्चे की मौत हो चुकी है।
गभर्वती महिला की मौत की खबर जैसे ही परिजनों व ग्रामीणों को लगी, तो ग्रामीण नर्सिंग होम पर दौड़ पड़े। ग्रामीणों ने हंगामा करते हुए कैबिन के दरवाजे, शीशे आदि तोड़ दिये। ग्रामीण युवकों ने महिला चिकित्सक के साथ मारपीट की। घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने महिला चिकित्सक को अपनी सुरक्षा में लेकर कोतवाली ले आई। पुलिस ने ग्रामीणों को कार्रवाई का आश्वासन देते हुए अपनी तहरीर देने को कहा। इसी दौरान ग्राम प्रधान व गांव के अन्य मौजिज लोग मौके पर पहुंच गये। उन्होंने परिजनों से वार्ता कर उन्हें समझाया। परिजन बिना किसी कार्रवाई के शव को अपने साथ ले गये। गांव वालों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया। इंस्पेक्टर चमन सिंह चावड़ा ने बताया कि घटना के सम्बंध में अभी तक कोई तहरीर नहीं दी गई है। तहरीर आने पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। सुमन चौधरी ने बताया कि मृतक महिला में हीमोग्लोबीन की मात्रा बहुत कम थी। इसके अलावा महिला कापफी दिनों से बीमार भी चल रही थी।

Share it
Top