पुलिस ने गिरफ्तार किये चार सुपारी किलर...सीकरी के पूर्व प्रधान अम्मार की आर्यपुरी में की थी गोली मारकर हत्या

पुलिस ने गिरफ्तार किये चार सुपारी किलर...सीकरी के पूर्व प्रधान अम्मार की आर्यपुरी में की थी गोली मारकर हत्या

मुजफ्फरनगर। सुपारी लेकर हत्या करने वाले गिरोह के चार शार्प शूटर पुलिस ने आज मुठभेड के बाद गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। सीकरी के पूर्व प्रधान अम्मार अहमद की आर्यपुरी में गोली मारकर हत्या भी पांच लाख की सुपारी लेकर की गयी थी। पुलिस ने अम्मार हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए चार सुपारी किलर गिरफ्तार किये है, जिन्होंने सीकरी के प्रधान जमशेद से पांच लाख रूपये की सुपारी लेकर पूर्व प्रधान अम्मार की चुनावी रंजिश के चलते गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने उनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त कार व मोटर साईकिल भी बरामद की है।
जानकारी के अनुसार पुलिस लाईन के सभागार में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एसएसपी अनन्तदेव तिवारी ने बताया कि शहर कोतवाली पुलिस ने क्राईम ब्रांच के साथ मिलकर बीती रात काली नदी पुल के पास से मुखबिर की सूचना पर चार बदमाशों को मुठभेड के बाद गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पकडे गये बदमाशों ने अपने नाम संदीप पुत्र श्याम सिंह निवासी कंजरहेडी थाना बाबरी जनपद शामली, राहुल उर्फ कपिल उर्फ फौजी पुत्र सुरेन्द्र निवासी ग्राम भनेडा जट थाना बाबरी जिला शामली, आमिर उर्फ छोटे पुत्र जपफरयाब निवासी ग्राम चुडियाला थाना मीरापुर व बिजेन्द्र उर्फ गौरी पुत्र श्यामा निवासी दौलतपुर थाना सिखेडा बताया। पकडे गये बदमाशों के कब्जे से तीन तमंचे 315 बोर, एक पिस्टल 32 बोर देशी, 6 जिन्दा कारतूस 315 बोर, दो जिन्दा कारतूस 32 बोर, एक खोखा 315 बोर, एक खोखा 32 बोर, एक गाडी डेटसन नम्बर यूपी 15बीपी-9237, एक मोटर साईकिल पल्सर काली नम्बर यूपी 12क्यू-2651 व पांच मोबाईल पफोन भी बरामद किये गये है। एसएसपी ने बताया कि भोपा थानाक्षेत्र के ग्राम सीकरी में चुनावी रंजिश को लेकर अम्मार प्रधान व जमशेद प्रधान पक्ष में दुश्मनी चली आ रही है। इसी चुनावी रंजिश के कारण 16 अक्टूबर 2015 को ग्राम सीकरी में तसलीम पुत्र जाहिद की हत्या कर दी गयी थी। इस हत्या में जमशेद, गुलसनव्वर पुत्रगण इशरत अली, मनव्वर पुत्रा भोला, नदीम पुत्रा बशीरू वर्तमान में जेल में है। इस मुकदमे में वादीपक्ष की तरफ से अम्मार प्रधान द्वारा पैरवी की जा रही थी। इसी रंजिश के कारण अम्मार प्रधान की विगत 22 अगस्त को मौहल्ला आर्यपुरी में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इसी रंजिश के कारण विगत 30 अगस्त को थाना भोपा पर मुकदमा अपराध संख्या 629/17, धारा 147, 148, 149, 307 बनाम अयूब आदि तथा 31 अगस्त 2017 को थाना भोपा पर मुकदमा अपराध संख्या 647/17 धारा 147, 148, 149, 302, 506, 120बी आईपीसी बनाम दिलशाद आदि अम्मार पक्ष की तरफ से पंजीकृत कराये गये हैं। पूछताछ में गिरफ्तार किये गये चारों अभियुक्तों ने जुर्म का इकबाल करते हुए बताया कि जमशेद पुत्र इशरत निवासी ग्राम सीकरी थाना भोपा, जो वर्तमान में अपने भाई नौशाद व गुलसनव्वर के साथ अपने ही गांव के तसलीम की हत्या के आरोप में जेल में बंद है। जमशेद के भाई दिलशाद ने उक्त बदमाशों से कहा था कि उसके तीनों भाई काफी दिनों से जेल में बंद है, जिनके खिलाफ पूर्व प्रधान अम्मार पैरवी कर रहा है, अगर अम्मार प्रधान की हत्या कर दो, तो तुम्हे पांच लाख रूपये सुपारी दी जायेगी, जबकि जेल से छूटने के बाद जमशेद पुनः प्रधान बनेगा और उसके प्रधान बनने पर ग्रामसभा से सम्बन्धित ठेकेदारी का ठेका भी दिलाया जायेगा। इसी कारण विगत 22 अगस्त को मौहल्ला आर्यपुरी में अम्मार प्रधान की ताबडतोड गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ने पकडे गये चारों सुपारी किलर को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया। बदमाशों को गिरफ्तार करने वाली टीम में क्राईम ब्रांच के निरीक्षक प्रभाकर कैन्तुरा, शहर कोतवाली के एसएसआई समयपाल, एसआई राधेश्याम यादव, एसआई राजेन्द्र प्रसाद वशिष्ठ, एसआई सुनील शर्मा, एसआई प्रवेश शर्मा, एसआई आदेश त्यागी, एसआई शोबीर नागर स्वॉट टीम, का. मोहित शर्मा, रोहित तेवतिया, संदीप त्यागी, सोनू शर्मा, कुलवन्त सिंह, दीपक कुमार, अमित कुमार, का. हरविन्द्र सिंह इंटेलीजेंस आदि मौजूद रहे। पकडे गये चारों बदमाश शातिर किस्म के अपराधी है और उनके विरू( विभिन्न थानों में गम्भीर धाराओं में मुकदमे दर्ज है। एसएसपी ने चारों बदमाशों को गिरफ्तार कर अम्मार हत्याकाण्ड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पांच हजार रूपये के ईनाम की घोषणा भी की है। पत्रकारवार्ता के दौरान एसपी सिटी ओमवीर सिंह, सीओ सिटी हरीश भदौरिया, शहर कोतवाल संजीव कुमार शर्मा, एसएसआई समयपाल भी मौजूद रहे।

Share it
Top