मुजफ्फरनगर: रण छोड साबित हुए डीआईओएस...माध्यमिक शिक्षक संघ ने दी मांग पूरी न होने तक धरना जारी रखने की चेतावनी

मुजफ्फरनगर: रण छोड साबित हुए डीआईओएस...माध्यमिक शिक्षक संघ ने दी मांग पूरी न होने तक धरना जारी रखने की चेतावनी

मुजफ्फरनगर। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर चौ. छोटूराम इंटर कॉलेज के शिक्षकों व लिपिकों का धरना 28 अगस्त से चल रहा है। यह धरना कॉलेज के कार्यवाहक प्रधानाचार्य नरेश प्रताप सिंह व उनकी पत्नी की कार्यप्रणाली को लेकर जारी है। धरने पर आज शिक्षक नेता पहुंचे, जिनके पहुंचने की जानकारी पाते ही जिला विद्यालय निरीक्षक अपने कार्यालय से चलते बने। उनकी लगभग ढाई घंटे के आसपास दोनों शिक्षक नेताओं द्वारा प्रतीक्षा की गयी। जिला विद्यालय निरीक्षक के न आने पर शिक्षकों ने एक नोटिस उनके कार्यालय के समक्ष चस्पा कर दिया। शिक्षकों ने साफ चेतावनी दी है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जायेगी, उनका धरना जारी रहेगा। वहीं शिक्षक नेताओं में से एक का कहना था कि यदि कहीं पर रिपोर्ट दर्ज कराने की बात आयेगी, तो सबसे पहले उनके विरूद्ध कार्यवाही करनी होगी।
चौ. छोटूराम इंटर कॉलेज में चल रहा शिक्षकों, लिपिकों व प्रधानाचार्य के बीच खींचातानी का प्रकरण फिर से उठान पर है। इसी सिलसिले में जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर माध्यमिक शिक्षक संघ की ओर से 28 अगस्त से धरना दिया जा रहा है। शुक्रवार को धरने को अपना समर्थन देने शिक्षकों के दो नेता संघ के प्रदेशाध्यक्ष नेता शिक्षक विधायक दल ओमप्रकाश शर्मा व विधान परिषद सदस्य हेमसिंह पुण्डीर पहुंचे। दोनों नेताओं ने शिक्षकों की मांगों को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक से वार्ता करने की बात कही, तो पता चला कि उनके आगमन की सूचना मिलते ही जिला विद्यालय निरीक्षक मुनेश कुमार वहां से रणछोड साबित हुए अर्थात वह अपने कार्यालय से नो दो ग्यारह हो गये। दोनों नेताओं ने उनकी 12 बजे से लेकर 2.30 बजे तक प्रतीक्षा की। जब फोन पर वार्ता भी की गई, जिस पर डीआईओएस ने कहा कि वह हाल ही में निकले है, जब ढाई बजे तक भी नहीं पहुंचे, तो शिक्षकों ने एक नोटिस उनके कार्यालय पर चस्पा कर दिया। इस संबंध में शिक्षकों का कहना था कि जब उनकी मांग जिसमें कार्यवाहक प्रधानाचार्य नरेश प्रताप सिंह को हटाया जाना शामिल है पूरी नहीं होती, उनका धरना जारी रहेगा। जिलाध्यक्ष शिवकुमार यादव व महामंत्री हेमन्त विश्नोई ने जानकारी देते हुए बताया कि इससे पहले भी दो से 9 अगस्त तक धरना चला था, जो कि डीआईओएस की कार्यवाही के आश्वासन पर समाप्त हुआ था, जिसमें कहा गया था कि कार्यवाही होने तक वह (प्रधानाचार्य) अवकाश पर रहेंगे, लेकिन उन्होंने कॉलेज ज्वॉइंन कर लिया है। शिक्षक नेता ओमप्रकाश शर्मा का कहना था कि यदि कहीं पर रिपोर्ट दर्ज कराने की बात आयेगी, तो सबसे पहले उनके नाम होगी। वह आवश्यकता पडने पर उपलब्ध रहेंगे। योगेन्द्र मलिक का कहना था कि धरना बीच में नहीं समाप्त होगा, जब तक मांग पूरी नहीं होगी, तब तक जारी रहेगा।

Share it
Top