किसानों का आधार फिडिंग कार्य शीघ्र होः सीडीओ...मुख्य विकास अधिकारी ने ली बैंकों के जिला समन्वयकों की बैठक

किसानों का आधार फिडिंग कार्य शीघ्र होः सीडीओ...मुख्य विकास अधिकारी ने ली बैंकों के जिला समन्वयकों की बैठक

मुजफ्फरनगर। मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने कहा कि सभी बैंकों के जिला समन्वयक सोमवार तक आगामी चरणों के लिए फसली ऋण पाने वाले किसानों के आधार फिडिंग का कार्य पूर्ण करा लें। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड फिडिंग कार्य की सूचना भी उपलब्ध करते रहे। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि फसली ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत प्रथम चरण में 11 हजार 180 किसानों को कर्ज माफी के लिए चुना गया था। उन्होंने बताया कि लखनऊ से पैसा जारी कर दिया गया है और किसानों के खातें में पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि जिन खातों में अभी पैसा नहीं पहुंचा है, वह जल्द ही पहंुच जायेगा।
मुख्य विकास अधिकारी आज यहां कलैक्ट्रेट सभागार मेें फसली ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत आगामी चरणांे की तैयारी के सम्बन्ध में बैंक समन्वयकों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि फिडिंग ऋण मोचन योजना सरकार की अति महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी योजना है। उन्होंने कहा कि संवेदनशील होकर निरन्तर पिफडिंग कार्य चालू रखे और अगले चरण के लिए आधार कार्ड पिफडिंग एवं भू-लेख मैपिंग का कार्य द्रुत गति से पूर्ण करें। मुख्य विकास अधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि मृतकों के वारिसाना प्रमाण पत्र लेकर उनकी भी फिडिंग कार्य पूर्ण कर लिया जाये। उन्होंने बताया कि ऋण मोचन प्रमाण पत्र स्क्राल फिड होने के उपरान्त डीएलसी लॉगिन से प्रिन्ट होंगे एवं राज्य स्तरीय नोडल अधिकारियों के लॉगिन में स्क्राल फिड करने का ऑप्शन ओपन कर दिया गया है। उन्होंने सभी बैंक समन्वयकांे को निर्देशित किया कि लिपिकीय त्राुटिवश डाटा, कृषकों द्वारा विभिन्न शाखाओं से एक ही भूमि एवं एक ही पफसल पर लिए गये ऋण सम्बन्धी डुप्लीकेसी एवं आधार कार्ड लिंक कराया जाना, मृत कृषक के स्थान पर उसके सम्बन्धित वारिस का नाम योजना में शामिल किये जाने के क्रम मंे एवं सत्यापन कार्य हेतु द्वारा तहसील स्तर पर प्राप्त कराये जाने के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी देते हुए उक्त कार्यों को एक अभियान चलाकर प्राथमिकता के आधार पर सम्पन्न कराने के निर्देश दिये। मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये कि जिन बैंको की भू-लेख मैपिंग का कार्य पूर्ण नहीं हुआ है वह पूर्ण कर अवगत कराये। उन्होंने कहा कि भू-लेख मैपिंग एवं यदि डाटा में तहसील का नाम गलत है, तो उसे भी ठीक कर ले। उन्होंने ऋण मोचन सम्बन्धी शिकायतों की प्रतिदिन मॉनिटरिंग किये जाने के भी निर्देश दिये। बैठक में अपर जिलाधिकारी वि/रा सुनील कुमार सिंह, उप निदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी, अग्रणी बैक प्रबन्धक तथा सभी जिला स्तरीय बैक समन्वयक उपस्थित रहे।

Share it
Top