आधा दर्जन घटनाओं से क्राईम कैपिटल बना थाना भोपा क्षेत्र..लगातार हत्याओं से दहला गांव सीकरी

आधा दर्जन घटनाओं से क्राईम कैपिटल बना थाना भोपा क्षेत्र..लगातार हत्याओं से दहला गांव सीकरी

भोपा। दिनदहाडे जंगल में ग्रामीण की हत्या से सीकरी गांव पुनः दहशत में आ गया। खेत पर चारा लेने गये। गरीब मजदूर की बदमाशों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी। हत्या की सूचना पाकर गांव सहित क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। हजारों ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन की नाकामी को लेकर भारी विरोध प्रकट किया। मौके पर पहुंचे एसपी देहात अजय सहदेव, भोपा पुलिस उपाधीक्षक मौ. रिजवान, जानसठ पुलिस उपाधीक्षक, एसकेएस प्रताप ने परिजनों को कार्यवाही का आश्वासन देकर उनके गुस्से को शान्त किया तथा शव को कब्जे में लेकर मैडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया। वहीं शाम के समय वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्तदेव तिवारी ने मृतक के घर जाकर घटना की जानकारी प्राप्त की तथा हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। मृतक के भाई चांद मियां ने दो व्यक्तियों को नामजद करते हुए तीन अज्ञात हत्यारों विरूद्ध नामजद तहरीर देकर हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की है।
थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम सीकरी निवासी 50 वर्षीय लुत्फुर्रहमान पुत्र जहीर हसन एक गरीब मजदूर व्यक्ति था तथा गांव में ही चौधरी सुहैल पुत्र मौ. शफीक के नौकरी पर कृषि कार्य व देखभाल करता था। गुरूवार सवेरे 8 बजे के लगभग प्रतिदिन की भांति लुत्फुर्रहमान उर्फ लुत्तन भोकरहेडी सीकरी सीमा पर स्थित जंगल में चेरी काटने के लिए गया। दोपहर 12 बजे के लगभग जब परिजनों ने देखा कि बैल बोगी पर रखे घास पर लुत्तन खून से लथपथ पडा मिला। लुत्तन के सीने पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। लुत्तन की हत्या का समाचार पाकर गांव में भगदड मच गयी। वहीं खून से लतपत लुत्तन के शव को देखकर परिजनों में हाहाकार मच गया। पत्नी नूरजहां सहित परिजनों में मातम छा गया। परिजन खून का बदला खून से लेने की मांग पुलिस से कर रहे थे तथा रंजिशन की गयी हत्या का आरोप पूर्व प्रधान जमशेद पक्ष पर लगाते हुए पुलिस की नाकामी पर दोष मढ रहे थे। लुत्तन के कोई औलाद नहीं है तथा उसके घर पर उसके भांजे गुलबदीन व हन्नान व बहन तथा भाई भतीजे ही रहते हैं। मृतक लुत्फुर्रहमान के तीन भाई हिजुर्रहमान, अजीबुर्रहमान उर्फ भूरा, चांद मियां तथा एक बहन रजिया है, जिसकी शादी गांव सीकरी के दूसरे मौहल्ले में हुई है। ग्रामीणों के अनुसार मृतक बेहद गरीब व सीधे मिजाज का व्यक्ति था, किन्तु जमशेद पक्ष के लोगों ने गवाहों को डराने डमकाने के उद्देश्य से उसकी हत्या कर दी है।
वहीं मृतक के भाई चांद मिया ने जमशेद पक्ष के राशिद पुत्र मुशर्रफ निवासी ग्राम रूडकली, दिलशाद पुत्र इशरत अली निवासी सीकरी पर घात लगाकर हमला करने का आरोप लगाते हुए लुत्तन की हत्या में नामजद व तीन अज्ञात को हत्यारोपी बनाया है तथा हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है। वहीं थाना भोपा क्षेत्रा में हो रही ताबडतोड हत्याओं को लेकर थाना भोपा पुलिस से क्षेत्रा की जनता का विश्वास डगमगाने लगा है। 17 जौलाई को भोकरहेडी में दिनदहाडे नसीम की हत्या, शुक्रताल में 12 अगस्त को 21 वर्षीय उदित की हत्या, 30 अगस्त को सीकरी के जंगल में बदमाशों द्वारा फायरिंग, बडी संख्या में गौकशी की घटनाओं सहित लूट, बलात्कार व थाने से आरोपियों द्वारा फरार हो जाने की घटनाओं ने थाना भोपा पुलिस की फजीहत करा दी है। क्षेत्र में नये कोतवाल की तैनाती की मांग ने जोर पकड लिया है, जहां पूर्व प्रधान मौ. अम्मार के हत्यारे अभी तक पुलिस की पहुंच से दूर हैं। वहीं भोकरहेडी निवासी नसीम की हत्या में शामिल अभी एक हत्यारा महीनों बीत जाने के बाद भी पुलिस की पहुंच से दूर है। वहीं सीकरी में गौकशी की घटनाओं में शामिल लोगों को सांठगांठ पर पुलिस द्वारा छोड देने के आरोप भी थाना पुलिस पर लगे हैं, जिससे पुलिस का दामन दागदार हो चला है। लुत्तन की हत्या पर क्या कार्यवाही पुलिस करेगी इसकी प्रतीक्षा क्षेत्र की जनता बेसब्री से कर रही है।

Share it
Top