आंधी में पेड़ की टहनी गिरने से ओएचसी का तार टूटा...जीआरपी भी पहुंची मौके पर, घंटे की मशक्कत के बाद ट्रैक हुआ सुचारू

आंधी में पेड़ की टहनी गिरने से ओएचसी का तार टूटा...जीआरपी भी पहुंची मौके पर, घंटे की मशक्कत के बाद ट्रैक हुआ सुचारू

मुजफ्फरनगर। रविवार की रात्रि ग्यारह बजे के आसपास आयी तेज आंधी में गांधी कालोनी जेल फाटक के पास रेलवे लाइन पर ओएचसी लाइन (विद्युत तार हाईटेंशन) पर पेड़ की टहनी टूट कर गिर गयी। जिसके चलते ओएचसी का तार टूट गया। इसकी जानकारी पाते ही स्थानीय पुलिस, जीआरपी व रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे तथा एक घंटे की मशक्कत के बाद लाइन को सुचारू किया गया। गनीमत यह रही कि जिस समय यह वाक्या हुआ, उस समय कोई ट्रेन नहीं आ रही थी। पंचकुला मामले के चलते अधिकांश ट्रेनों का रद्द किया गया था, केवल एक ट्रेन दिल्ली-सहारनपुर पैसंेजर का ही समय था, जो कि विलंब से चल रही थी। घटना के चलते पूरा संचालन एक प्रकार से रूक गया था।
रविवार को मुजफ्फरनगर के रेलवे स्टेशन के पास गांधी कालोनी जेल फाटक के पास ओएचसी की लाइन पर ग्यारह बजे के आसपास आयी तेज आंधी मंे एक पेड़ की डाली टूट कर गिर गयी। जिसके चलते लाइन का तार टूट गया। जिसकी सूचना थाना सिविल लाइन इंचार्ज गिरीश चन्द्र शर्मा को मिली, जिन्होंने तुरंत हरकत में आते हुए सूचना को तुरंत जीआरपी रेलवे स्टेशन मुजफ्फरनगर को दी। इस बारे में जानकारी करने पर जीआरपी प्रभारी किशन अवतार ने बताया कि सूचना मिलने पर उन्होंने इस विषय में सूचना पावर केबिन को दी। जिस पर तुरंत ही मुजफ्फरनगर स्टेशन पर खड़ी टावर वेगन मौके पर भेजी गयी। जिसने लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद लाइन को सुचारू किया। उनका कहना था कि आंधी में पेड़ की डाली टूट कर लाइन पर गिरने से तार टूटा। गनीमत यह रही कि उस समय किसी ट्रेन का आगमन नहीं हो रहा था।
जिस समय यह घटना हुई, उस समय के आसपास दिल्ली-सहारनपुर पैसंेजर व इससे पहले गोल्डन टैम्पिल मेल का आगमन होता है। इसमें पंचकुला की घटना के चलते गोल्डन टैम्पिल मेल को रद्द कर दिया गया था, पैसंेजर कुछ विलंबता से संचालित हो रही थी। वरना एक बड़ा हादसा हो सकता था। इस बारे में स्टेशन अधीक्षक विपिन त्यागी का कहना था कि घटना की जानकारी मिलने पर टावर वेगन को लेकर लाइन को सही कराया गया, इसमें लगभग एक घंटा का समय लगा। मामले के चलते किसी भी ट्रेन का ेजनपद के स्टेशन पर नहीं रोका गया। यह वाक्या आंधी में पेड़ की डाली टूट कर लाइन पर गिरने से हुआ।
वहीं दूसरी ओर रात में ग्यारह बजे के आसपास आए तेज आंधी-तूपफान व बारिश से जहां लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली, वहीं दूसरी तरफ भारी नुक्सान भी उठाना पड़ा। जिले में कहीं बिजली के खम्बे गिरे, तो कहीं पेड़, बोर्ड, फ्लैक्स आदि। शहर के भोपा रोड सहित कई स्थानों पर पेड़ की डालियां टूटकर विद्युत तारों पर झूलती देखी गई। क्षेत्राधिकारी नगर व क्षेत्राधिकारी नई मंडी के कार्यालय के मुख्य गेट पर लगा बोर्ड भी इस तूफान की चपेट में आ गया।

Share it
Top