पंचकुला की आंच में रेल पथ झुलसा...कई ट्रेनें हुई रद्द, कई का बीच में सफर हुआ पूरा, मुजफ्फरनगर स्टेशन पर सुपर व मेरठ में समाप्त हुई शालीमार

पंचकुला की आंच में रेल पथ झुलसा...कई ट्रेनें हुई रद्द, कई का बीच में सफर हुआ पूरा, मुजफ्फरनगर स्टेशन पर सुपर व मेरठ में समाप्त हुई शालीमार

मुजफ्फरनगर। शुक्रवार को पंचकुला में सीबीआई कोर्ट के द्वारा डेरा सच्चा सौदा के गुरू बाबा राम रहीम महाराज को यौन शोषण के मामले में दोषी करार दिया गया। जिसके चलते हरियाणा व पंजाब में उनके अनुयायी अहिंसा का रास्ता त्याग कर हिंसक हो गये। जिसके चलते पंचकुला सहित दोनों राज्य में कई हिस्सों में कफ्रर्यू लगा दिया गया। भड़की हिंसा की आंच मंे दिल्ली-सहारनपुर रेल पथ भी झुलस गया। जिसके चलते एक दिन पहले ही कई गाड़ियों को रद्द कर दिया गया था, लेकिन आज भड़की हिंसा के चलते और कुछ गाड़ियों को रद्द किया गया तथा कुछ का तो बीच रास्ते में ही सफर पूरा कर दिया गया। इसमें सुपर मुजफ्फरनगर स्टेशन पर समाप्त की गयी। इसके अलावा शालीमार को मेरठ सिटी स्टेशन पर समाप्त कर स्थान न होने के चलते मुजफ्फरनगर लाया गया। इन गाड़ियों के यात्रियों को बीच रास्ते में सफर पूरा होने को लेकर काफी रोष देखा गया।
शुक्रवार को पंचकुला की सीबीआई कोर्ट के आने वाले फैसले को लेकर रेलवे की ओर से एहतियात बरते जाने लगे थे। जिसके चलते हरियाणा व पंजाब को होकर जाने वाले अधिकांश ट्रेनों को रद्द कर दिया गया था। इसी कड़ी में मुजफ्फरनगर से होकर आने व जाने वाले ट्रेनों में गाड़ी संख्या 14645 शालीमार को आज के लिए किया गया था, लेकिन इसका संचालन किया गया। इसके साथ ही गाड़ी संख्या 54304 कालका को भी रद्द किया गया। इसके साथ ही 26 अगस्त के लिए गाड़ी संख्या 18238 छत्तीसगढ़, गाड़ी संख्या 12904 गोल्डन टैम्पिल मेल व 14646 शालीमार का भी रद्द किया गया। शुक्रवार की दोपहर बाद पफैसला आने के बाद भड़की हिंसा को देखते हुए कई और गाड़ियों का सपफर बीच में ही समाप्त कर दिया गया। इसमें गाड़ी संख्या 14681 सुपर शामिल है। इसे मुजफ्फरनगर स्टेशन पर ही समाप्त कर दिया गया। जिसके चलते इसके यात्रियों में काफी रोष देखने को मिला। उनका कहना था कि अब रात्रि नौ बजे वह कहां पर जाएं। इस ट्रेन को प्लेटफार्म एक पर रखा गया। वहीं इसी कड़ी में एक और महत्वपूर्ण लंबी दूरी की गाड़ी शालीमार (14645) को मेरठ सिटी में ही समाप्त कर दिया गया। वहां पर स्थान खाली न होने के चलते इस ट्रेन को मुजफ्फरनगर की लूप लाइन पर रखा गया। सुपर को लेकर सूत्रों का कहना था कि सहारनपुर में भी स्थान खाली न होने के चलते इसे यहीं पर समाप्त किया गया। वहीं दूसरी ओर दिल्ली-सहारनपुर 64557 जो कि एक घंटा विलंबता से दर्शायी गयी थी, के भी सहारनपुर तक संचालन को लेकर प्रश्नचिन्न लग गया था। इसके साथ ही 54473 के संचालन पर आश्ंाका के बादल मंडरा रहे थे। वहीं गोल्डन टैम्पिल मेल (12903) भी इसी कड़ी में शामिल की गयी थी। इसके साथ ही 54442 अंबाला-मेरठ पैसंेजर को भी रद्द कर दिया गया। इसके साथ ही अनेक गाड़ियां विलंबता से संचालित हुई। इसमें 54472 पैसेंजर एक घंटा, 14521 इंटरसिटी चालीस मिनट, 64561 दो घंटे, 12055 जनशताब्दी चालीस मिनट, 12018 शताब्दी तीस मिनट, 19031 योगा एक्सप्रेस एक घंटा 35 मिनट, 18478 उत्कल एक्सप्रेस पौने चार घंटा, 54539 निजामुद्दीन पैसंेजर चार घंटे, 14511 नौचंदी तीन घंटे 52 मिनट, 12688 देहरादून-चंडी 31 मिनट शामिल रहीं।

Share it
Top