मुजफ्फरनगर: पंचों ने सिर मुंडवाकर दी प्यार करने की सजा

मुजफ्फरनगर: पंचों ने सिर मुंडवाकर दी प्यार करने की सजा

मंसूरपुर। जहां एक और शासन प्रशासन बार-बार दावा करता नजर आता है कि किसी को भी कानून को अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है, अगर कोई कानून हाथ में लेता है, तो उसके खिलापफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं दूसरी ओर एक महिला से प्यार करने वाले युवक को गांव के प्रधान समेत अन्य पंचों ने प्रेमी युवक व उसके रिश्तेदार, जहां पर प्रेमी रह रहे थे, का सर मुंडवाकर सर पर चौराहा बना गांव में घुमाने की सजा सुनाई। मौके पर मौजूद किसी भी व्यक्ति ने यह नहीं सोचा कि इस सजा को सुनाने का अधिकार पंचों को किसने दिया। मौके पर मीडिया के पहुंचने से गांव में घुमाने का प्रोग्राम कैंसिल करा दिया गया। ग्राम प्रधान का इस मामले को लेकर कहना है कि दोनों पक्षों में फैसला करा दिया गया था, मगर किसी शरारती तत्वों ने सिर मुंडवा दिया है। मुझे इस मामले की जानकारी नहीं। उधर पुलिस का कहना है कि इस मामले की कोई जानकारी नहीं है। तहरीर आने पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। मोनू पुत्र राजेंद्र निवासी कच्ची सड़क मुजफ्फरनगर का आनंदपुरी मुजफ्फरनगर निवासी महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बताया गया है कि महिला के पति की कई साल पहले मौत हो गई थी। महिला को 3 बच्चे भी हैं। 21 अगस्त के दिन प्रेम-प्रसंग के चलते मोनू अपनी प्रेमिका को लेकर क्षेत्र के गांव बेगराजपुर अपने मामा तेजपाल उर्फ पाला के घर आ गया था और तब से वहीं पर रह रहा था। मोनू की प्रेमिका की बुआ भी गांव बेगराजपुर में ही रहती है। शुक्रवार के दिन महिला जैसे ही गांव में घूमने के लिए निकली, तो रास्ते में महिला की बुआ के लड़के ने वह देख ली और महिला के ससुराल में खबर कर दी। पता लगते ही महिला के ससुराल वाले गांव बेगराजपुर पहुंच गए और महिला को लेकर चले गए। ग्राम प्रधान मनोज के आवास पर इस मामले को लेकर एक पंचायत की गई और पंचायत में पंचों ने निर्णय सुनाया कि मोनू व उसके मामा तेजपाल का सिर मुंडवाकर गांव में घुमाया जाए। जब इस बात की जानकारी मीडिया को हुई, तो मीडिया तुरंत मौके पर पहुंची, तब तक दोनों का सर मुंडवा दिया गया था और गांव में घुमाने की तैयारी शुरू कर दी गई थी। मीडिया को देख कर पंचों ने गांव में घुमाने का प्रोग्राम कैंसिल करा दिया। जब मीडिया कर्मियों ने ग्राम प्रधान से इस मामले की जानकारी ली, तो ग्राम प्रधान ने बताया कि मैंने अपने आवास पर दोनों पक्षों में फैसला करा दिया था। ज्यादा भीड़ होने के कारण गांव में किसी शरारती तत्वों ने मोनू व तेजपाल का सर कब मुंडवा दिया, मुझे पता ही नहीं चला। थाना पुलिस से जानकारी की गई, तो थाना प्रभारी केपीएस चाहल ने कहा कि हमे इस मामले की कोई जानकारी नहीं है, अगर कोई तहरीर आती है, तो दोषियों के खिलापफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Share it
Top