गांव शेरपुर खादर कैंसर की बीमारी से दहशत, दो की मौत

गांव शेरपुर खादर कैंसर की बीमारी से दहशत, दो की मौत

पुरकाजी। कस्बे के खादर शेरपुर में अगर किसी महिला पुरूष को बुखार आ जाता है या दर्द भी हो जाता है, तो लोग भयभीत हो जाते है, क्योकि यहां पिछले दो साल से लाईलाज बीमारी के कारण गांव के लोग बाढ़ का पानी गांव के चारोें ओर बडे अस्पतालों कें इलाज चल रहा है। इस लाईलाज बीमारी के कारण गांव के लोग बाढ का पानी गांव के चारों और भरकर कई माह तक रूक जाता है। पानी की निकासी न होने से गांव मंें भयंकर बीमारी पैदा हो गई है। पुरकाजी से दस किलो मीटर दूर लक्सर मार्ग पर गांव शेरपुर बसा है, जिसमें तीन माह के दौरान राजकुमार पुत्र बीरबल, सोमपाल पुत्र साहब सिंह की कंेसर से मौतें हो चुकी है। 30 वर्षीय अजय पुत्र पवन, 52 वर्षीय सुरेशपाल पुत्र बीरबल, 50 वर्षीय कंवरपाल पुत्र राजाराम 8 माह से और महिला मेमता पत्नी राजाराम लगभग डेढ साल से कैंसर की बीमारी से पीडित है, जिनका चंड़ीगढ और ऋषिकेश में इलाज चल रहा है। गांव के मास्टर बचन सिंह का कहना है कि लक्सर मार्ग का बाढ़ का पानी भरने के कारण जो रपटा बनाया गया है, वो बहुत ऊंचा है, जिस कारण बाढ़ का पानी हमारे गांव के चारों और इकट्ठा हो जाता है, जो कई माह बाद तक सूखता है, जिसमें वो गंदा पानी सड़ जाता है। गांव में बीमारी पैर फैलाती जा रही है, इस जानलेवा कैंसर बीमारी से गांव में दहशत है। गांव के लोगों ने पानी व जांच टीम की मांग की है।

Share it
Top