चुनावी रंजिश के चलते हुई अम्मार की हत्या...सीकरी के पूर्व प्रधान ने अपनी पत्नी को लडाया था जिला पंचायत मैम्बरी का चुनाव

चुनावी रंजिश के चलते हुई अम्मार की हत्या...सीकरी के पूर्व प्रधान ने अपनी पत्नी को लडाया था जिला पंचायत मैम्बरी का चुनाव

मुजफ्फरनगर। सीकरी गांव के पूर्व प्रधान मौ. अम्मार की गोलियों से भूनकर की गई हत्या के मामले में पुलिस जांच पडताल में जुट गयी है। पुलिस जांच में मौ. अम्मार की हत्या चुनावी रंजिश को लेकर की गयी है। जानकारी के अनुसार सीकरी निवासी पूर्व प्रधान मौ. अम्मार गांव की पार्टीबाजी से बचकर शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला लद्दावाला में रहने लगे थे। वह पूर्व सांसद कादिर राना के काफी नजदीकी रहे है और दारूल उलूम देवबन्द के मदनी परिवार से भी उनकी रिश्तेदारी है। इसी कारण पुलिस ने बेहद तत्परता से भागदौड कर हत्या के कारणों की जांच शुरू कर दी। आज सुबह लगभग 11 बजे जब मौ. अम्मार अपने एटेरनो स्कूटर से आर्यपुरी मौहल्ले से गुजर रहे थे, तभी उन पर पल्सर सवार बदमाशों ने जानलेवा हमला किया। मौ. अम्मार पर तीन फायर किये गये, जिनमें से उन्हें दो गोली लगी। गोली लगने के बाद घायल अवस्था में पडे मौ. अम्मार को वहां से ई-रिक्शा लेकर गुजर रहे लद्दावाला निवासी पफरीद पुत्र रसीद ने जिला चिकित्सालय पहुंचाया। चिकित्सकों ने गम्भीर रूप से घायल पूर्व प्रधान को उपचार देना शुरू ही किया था कि पांच मिनट में ही उनके प्राण पखेरू उड गये। घटना की सूचना मिलने पर पूर्व प्रधान के कई परिजन भी वहां पहुंच गये। मृतक के भाई मौ. बिलाल पुत्र मौहम्मद सईद भी वहां आ गये। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को मोर्चरी पर रखवा दिया, लेकिन परिजनों ने एसएसपी को मौके पर बुलाये जाने की बात को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। एसपी सिटी ओमबीर सिंह, सीओ सिटी हरीश भदौरिया व शहर कोतवाल संजीव शर्मा ने बडी मुश्किल से परिजनों को समझा-बुझाकर शान्त किया और शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पुलिस सूत्रों के अनुसार मौ. अम्मार की हत्या के मुकदमे की पैरवी करने की रंजिश में की गई है। बताया जा रहा है कि सीकरी निवासी खालिद पर जानलेवा हमला व उसके चाचा तसलीम की हत्या के मामले की पैरवी मौ. अम्मार ही कर रहे थे। इस मामले में नामजद आरोपी सीकरी के प्रधान मौ. जमशेद, गुलसनव्वर और मौ. नौशाद भोपा थाने के हिस्ट्रीशीटर है, जिनके विरूद्ध हत्या व जानलेवा हमले के दर्जनों मुकदमे दर्ज है। जमशेद व गुलसनव्वर के नाम थाने की टॉप-10 सूची में दर्ज है। प्रधान जमशेद व गुलसनव्वर के विरूद्ध पंचायत चुनाव के दौरान मुचलका पाबंद व गुण्डाएक्ट की कार्यवाही भी भोपा पुलिस ने की थी।

Share it
Top