गांव सीकरी से जुड़े हैं पूर्व प्रधान अम्मार हत्या के तार

गांव सीकरी से जुड़े हैं पूर्व प्रधान अम्मार हत्या के तार

भोपा। क्षेत्र के गांव सीकरी के पूर्व प्रधान अम्मार की हत्या के तार ग्रामीण गांव से जुड़े होने की आशंका जता रहे है। हत्या से एक दिन पहले अम्मार का गाँव में आना गांव के तसलीम हत्या काण्ड के मुख्य आरोपी जमशेद की पत्नी का वरिष्ठ पुलिस अध्ीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर अम्मार से अपने बच्चों व अपने आप को जान का खतरा व अपहरण की ध्मकी देना बताया। पिछले एक साल में अम्मार को कई बार पफोन पर जान से मारने की ध्मकी मिल रही थी। भोपा थाना क्षेत्र के गांव सीकरी में 16 अक्टूबर 2015 को तसलीम पुत्र जाहिद की गाँव के कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी, जिसमें तसलीम के बड़े भाई ताजीम ने भोपा थाने पर जमशेद, गुलशनवर पुत्रगण इशरत अली, नदीम पुत्र बशीरु व मनवर पुत्रा भोला के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था, जिसमें भोपा पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। तसलीम हत्याकाण्ड की पैरवी अम्मार द्वारा की जा रही थी, जिस कारण अम्मार को मुकदमे की पैरवी से हटाने के लिये कही बार पफोन पर भी जान से मारने की धमकी दी जा चुकी थी, जिसकी सूचना अम्मार की ओर से भोपा पुलिस को दे दी गयी थी। तसलीम के हत्यारे जमशेद की पत्नी रुकशाना ने हाल ही में वरिष्ठ पुलिस अध्ीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर अम्मार व गांव के कुछ लोगों से अपनी व अपने बच्चों की जान का खतरा बताते हुए अपहरण की आशंका व्यक्त की है, जिसे लेकर पुलिस जांच कर रही है। एक दिन पहले गांव में आकर अम्मार ने अपने साथियों को अपने विरुद्ध रुकशाना की कानूनी कारवाई के बारे में बताते समय अपनी जान को खतरा होना बताया।

Share it
Top