यूपी पुलिस का सिपाही निकला कार लुटेरा...गैंग बनाकर हाईवे पर लूटते थे गाडियां, ग्राहक तैयार कर बिकवाता था गाडी

यूपी पुलिस का सिपाही निकला कार लुटेरा...गैंग बनाकर हाईवे पर लूटते थे गाडियां, ग्राहक तैयार कर बिकवाता था गाडी

मुजफ्फरनगर। जनपद में लगातार हो रही वाहन लूट की घटनाओं पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से पुलिस द्वारा की गई प्रभावी कार्यवाही के चलते हाईवे वाहन लूट गैंग के चार सदस्यों को खतौली पुलिस ने भैंसी कट से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकडे गये बदमाशों में से तीन पर डीआईजी की तरफ से 12-12 हजार रूपये का इनाम था, जबकि एक बदमाश यूपी पुलिस का सिपाही है और वर्तमान में मुरादाबाद सैल टैक्स ऑपिफस में तैनात है, जो लूटी गयी गाडियों को बिकवाने के लिये ग्राहक तैयार करता था।
आज दोपहर पुलिस लाइन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक नगर ओमवीर सिंह ने बताया कि थाना खतौली पुलिस ने हाईवे पर हो रही वाहन लूट की सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए भैंसी कट से इस गिरोह से जुड़े चार लुटेरों को गिरफ्रतार कर लिया है। पकड़े गए बदमाशों के कब्जे से एक बीट कार, दो स्विफ्ट डिजायर तथा एक स्विफ्ट कार भी बरामद की गई है। इनमें से एक कार मुजफ्फरनगर-मेरठ बॉर्डर पर थाना खतौली क्षेत्र में लूटी गई थी। पूछताछ के दौरान पकड़े गए बदमाशों ने अपना नाम अंकित पुत्र परविंदर निवासी ग्राम सनौली थाना छपरौली जिला बागपत, अंकित पुत्र सुधीर निवासी ग्राम हुरमजपुर थाना कांधला जिला शामली, रोबिन उर्फ भूरा पुत्र राजपाल निवासी ग्राम हुरमजपुर थाना कांधली जिला शामली तथा प्रियवृत तोमर पुत्र बलराज सिंह निवासी ग्राम शिकोहपुर थाना बडौत जनपद बागपत बताए है। एसपी सिटी के अनुसार तीनों बदमाशों पर 12-12 हजार रूपये का इनाम भी घोषित किया गया था। कार लुटेरों के साथ पकडा गया प्रियवृत तोमर यूपी पुलिस का सिपाही है, जो पिफलहाल मुरादाबाद में सैल टैक्स विभाग में तैनात था। प्रियवृत तोमर लूटी गई गाड़ियों को बेचने का काम करता था। इस गिरोह के तीन सदस्य अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं, जिसमें नीरज उर्फ पण्डित उर्फ बाबा उर्फ चीता पुत्र ओमपाल जाट निवासी अटटा चिंदौडी थाना रोहटा जनपद मेरठ, राहुल पुत्र श्याम सिंह निवासी ग्राम चूनसा थाना बाबरी जिला शामली व एक सुनील नामक बदमाश भी शामिल है। यह गिरोह हाईवे पर वाहनों की लूट की घटना को अंजाम देता था। जब भी कोई व्यक्ति हाइवे के किनारे किसी निर्जन स्थान पर अपनी गाड़ी रोकता था, यह गिरोह उसे अपना शिकार बना लेता था। अब तक यह गिरोह लूट की दर्जनों वारदातों को अंजाम दे चुका था। एसपी सिटी ने कहा कि इनकी गिरफ्तारी से निश्चित ही अपराधों पर काफी हद तक विराम लग सकेगा। पकडे गये बदमाशों के कब्जे से दो तमंचे देशी 315 बोर, मय कारतूस, एक छुरी नाजायज, चार कारें भी बरामद हुई, जो फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर बेची जानी थी।

Share it
Top