मानवीय चूक होने के पुख्ता सबूत...रेलवे के अधिकारियों ने कर्मचारियों की लापरवाही का नतीजा है दुर्घटना

मानवीय चूक होने के पुख्ता सबूत...रेलवे के अधिकारियों ने कर्मचारियों की लापरवाही का नतीजा है दुर्घटना

खतौली। शनिवार शाम को खतौली क्षेत्र में हुई भीषण रेल दुर्घटना रेल विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही का नतीजा बतायी जा रही है। घटनास्थल पर मानवीय चूक होने के पुख्ता सबूत मिलने के बाद रेल विभाग के आला अधिकारियों ने घटना के पीछे आतंकी साजिश होने की आशंका पर अपने होंठ सी लिये है। हादसे के बाद रात दिन चले राहत व बचाव कार्य के बाद रेलवे के जीएम आरके कुलश्रेष्ठ व डीआरएम एसके सिंह ने रविवार देर रात तक दिल्ली सहारनपुर के बीच रेल यातायात सुचारू करा देने का दावा किया है। दूसरी और रेल ट्रेक से क्षतिग्रस्त बोगियो को हटाये जाने के दौरान और शव बरामद होने की अपुष्ट खबरे पफैलती रही, किन्तु किसी जिम्मेदार अधिकारी ने इसकी पुष्टि नहीं की। इसके अलावा डा. संजीव बालियान के आदेश पर उपलब्ध हुई मुजफ्फरनगर डिपो की दो बसों में हादसे के बाद झारखण्ड महादेव मन्दिर में रुके 80 प्रभावित यात्रियों को आज राजस्थान रवाना किया गया। रविवार को रेल विभाग के एक गैंगमैन की बातचीत की ऑडियो रिकार्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कलिंगा उत्त्कल एक्सप्रेस ट्रेन के हादसे का सच सबके सामने उजागर हो गया है। उत्तर रेलवे के आला अधिकारियों ने मौके पर मौजूद रहकर अपनी देखरेख में अम्बाला व मेरठ से आयी क्रेनो द्वारा क्षतिग्रस्त बोगियों को ट्रेक से हटवाकर देर रात तक दिल्ली सहारनपुर के बीच रेल यातायात सुचारू करा देने का दावा किया। वायरल हुए ऑडियो में गैंगमैन अपने विभाग के निठल्लेपन को खूब उजागर कर रेल विभाग के सुरक्षा दावों की पोल खोल रहा है। हादसे के फौरन बाद आतंकी साजिश की आशंका व्यक्त करने वाले आला अधिकारी रेल विभाग की भारी चूक उजागर होने पर अब उच्चस्तरीय जांच होने की दुहाई देकर कुछ भी बोलने से बच रहे है। हादसे के बाद रेल लाईन के निकट स्थित श्रीझारखण्ड महादेव देवालय में शरण लिये प्रभावित ट्रेन यात्रियों को मुजफ्फरनगर डिपो की दो बसों में सवार कर आज राजस्थान रवाना किया गया।

Share it
Top