गोताखोरों को गंगा से मिला उदित का शव....मेरठ से आयी पीएसी की टीम ने चलाया सर्च अभियान, तीन हत्यारोपी जेल भेजे

गोताखोरों को गंगा से मिला उदित का शव....मेरठ से आयी पीएसी की टीम ने चलाया सर्च अभियान, तीन हत्यारोपी जेल भेजे

मोरना। सात घन्टे के सर्च अभियान के बाद पुलिस व पीएसी ने हत्या कर गंगा में फेंके गये उदित का शव बरामद किया। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त पफावड़ा बरामद कर तीनों को जेल भेज दिया तथा दो की तलाश शुरू कर दी है। भोपा थाना क्षेत्रा की तीर्थनगरी शुक्रताल के रामचन्द्र ने मुकदमा कराया कि उसके इकलौते बेटे उदित 20 वर्ष को गत 12 अगस्त को हर्षित निवासी शुक्रतारी, सोनू मिस्त्राी निवासी पिफरोजपुर, अभिजीत निवासी भोकरहेड़ी घर से बुलाकर ले गये और उसके बेटे की हत्या कर शव गायब कर दिया। सीओ भोपा मौ. रिजवान के निर्देशन में एसएचओ विजय सिंह, एसआई बालेन्द्र सिंह ने तत्काल नामजद तीनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो आरोपियों ने नशे में विवाद होने पर पफावड़ा मारकर उदित की हत्या करने की बात कबूल ली और शव को सौलानी नदी में पफेंकना बताया, पुलिस दो दिन तक शव की तलाश सौलानी में करती रही, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। गत दिवस 44वीं वाहिनी पीएसी मेरठ के एचसीपी हरिलाल के नेतृत्व में सात सदस्य दल, एसआई बालेन्द्र सिंह व ग्रामीणों ने चार नाव लेकर सौलानी के दुधी घाट से गंगा के जलालपुर तक शव की तलाश में सात घन्टे सर्च अभियान चलाया, जिसमें शव गंगा में एक रेतीले टापू पर अटका मिला। आरोपियों ने हत्या कर शव को पन्नी में भरकर टांट की बोरी में लपेटकर पफेंका था। शव मिलने की सूचना पर हजारों ग्रामीण गंगा घाट पर एकत्रा रहे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज तीनों नामजद आरोपी हर्षित, सोनू, अभिजीत को जेल भेज दिया। थाना प्रभारी निरीक्षक विजय सिंह ने बताया की इस हत्याकाण्ड़ में हर्षित के पिता राजू व योगेन्द्र की संलिप्तता मिली है, दोनों की तलाश की जा रही है।

Share it
Top