मुजफ्फरनगर: डा. मंजू गुप्ता के अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा, सीज, डा. विपिन गुप्ता को रंगेहाथ लिंग जांच करते पकड़ा

मुजफ्फरनगर: डा. मंजू गुप्ता के अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा, सीज, डा. विपिन गुप्ता को रंगेहाथ लिंग जांच करते पकड़ा

मुजफ्फरनगर। शुक्रवार को नगर के एक चिकित्सक को लिंग जांच करना उस समय भारी पड़ गया। जब हरियाणा राज्य के जनपद पानीपत की पुलिस ने वहां के डिप्टी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में डाक्टर के सदर बाजार स्थित नर्सिंग होम पर छापा मार कर उसे रंगेहाथों पकड़ा। उसके बाद आयी चिकित्सकों की टीम व अन्य ने मौके से सभी आवश्यक सामान को सीज करते हुए अल्ट्रासाउंड सेंटर को भी सीज कर दिया। इस मामले में देर रात्रि तक आगे की कार्यवाही के लिए मंथन जारी था। एक चिकित्सक के द्वारा अल्ट्रासाउंड से लिंग जांच के लिए करते हुए पकड़े जाने की खबर नगर में जंगल की आग की भांति फैल गयी। आनन-फानन में अनेक अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालक इतना भय खा गये कि वह अपना सेंटर तक बंद कर चलते बने। इसके साथ ही अन्य में पूरे दिन हड़कंप मचा रहा।
सदर बाजार में शुक्रवार की दोपहर ढाई बजे उस समय हलचल मच गयी। जब हरियाणा राज्य की जनपद पानीपत की पुलिस के साथ वहा की पीसीपीएमडीटी टीम डिप्टी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में डा. मंजु गुप्ता के अल्ट्रासाउंड सेंटर पर पहुंची। जहां पर टीम ने छापेमार कार्यवाही करते हुए डा. विपिन गुप्ता को 15000 लेकर रंगेहाथ लिंग जांच को लेकर अल्ट्रासाउंड करते हुए पकड़ा। छापेमार की कार्यवाही होते ही वहां पर हड़कंप मच गया। टीम ने तुरंत ही कार्यवाही करते हुए सभी आवश्यक सामान को अपने कब्जे में कर लिया तथा दस्तावेज व पेन ड्राइव आदि भी अपने कब्जे में कर ली। इसके साथ ही कार्यवाही करते हुए अल्ट्रासाउंड सेंटर को सीज कर दिया। छापेमार टीम में डा. सुधीर बत्रा, डा. शालिनी, डा. सुखदीप, डिप्टी मजिस्ट्रेट नवनीत कुमार सहित पानीपत की पुलिस शामिल रही। इसके साथ ही डा. मंजु गुप्ता सहित उनके पति को हिरासत में ले लिया गया। जिन्हें लेकर थाना सिविल लाया गया। जहां पर टीम की ओर रिपोर्ट दर्ज कराने की कार्यवाही जारी थी। छापे को लेकर टीम के एक चिकित्सक का कहना था कि डा. मंजु गुप्ता के अल्ट्रासाउंड सेंटर पर लिंग जांच को लेकर काफी समय से शिकायतें मिल रही थीं। जिसके बाद टीम द्वारा यहां पर छापेमारी करने को लेकर एक टीम का गठन किया गया। जिसके बाद यहां पर आज की यह छापे की कार्यवाही अमल में लायी जा सकी। जिसमें डा. विपिन गुप्ता को रंगेहाथों लिंग की जांच करते हुए पकड़ा गया। इस छापेमारी की कार्यवाही के चलते अन्य अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालकों में हड़कंप मच गया। कुछ तो इतने भयभीत हुए कि वह अपना सेंटर बंद करके ही चलते बने।

Share it
Top