पागल नील गाय ने किसानों को गम्भीर रूप से किया घायल

पागल नील गाय ने किसानों को गम्भीर रूप से किया घायल

मोरना। पागल हुए नील गाय ने खेत में काम कर रहे किसानों को घायल कर दिया। गम्भीर रूप से घायलों को निजी चिकित्सकों के पास ले जाया गया, जहां से गम्भीर हालत के चलते एक युवक को मुजफ्फरनगर के निजी अस्पताल ले जाया गया। किसानों ने सूचना के चार घंटे बाद पहुंची वन विभाग की लापरवाही को लेकर रोष जताया है। हस्तिनापुर सुरक्षित वन्य अभ्यारण्य क्षेत्र के शुक्रताल रेंजर जोन व थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम शुक्रतारी के जंगल में किसान अपने खेतों में कार्य कर रहे थे। 17 वर्षीय कामरान पुत्र फिरोज ने बताया कि उसे बराबर के खेत से जानवर की तीक्ष्ण आवाज सुनाई पडी, जिससे वह अपने 50 वर्षीय चाचा जिल्लुर्रहमान के साथ उधर गया, जहां एक नील गाय आम के वृक्ष के पास खडी थी। इतने में चाचा भतीजे कुछ समझ पाते नील गाय ने दोनों पर वार कर दिया। शोर मचाने पर खेत में काम कर रहे किसान उधर दौडे, जहां नील गाय बार-बार कामरान पर बेसुध होकर वार कर रहा था। किसी प्रकार किसानों ने कामरान की जान को नील गाय से बचायी, जिसमें 25 वर्षीय बदर पुत्र शकील अहमद भी गम्भीर रूप से घायल हो गया तथा अन्य किसानों के भी चोटें आयी। घटना की सूचना थाना भोपा प्रभारी विजय सिंह को कस्बे के पूर्व चेयरमैन कैप्टन ज्ञानेन्द्र सिंह द्वारा दी गयी। थाना भोपा की सूचना के घंटे बाद भी वन विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची। किसी प्रकार किसानों ने बडी संख्या में एकत्र होकर सामूहिक प्रयासों से नील गाय को काबू में किया गया। सूचना मिलने के चार घंटे के बाद पहुंची वन विभाग की टीम के पहुंचने से पहले ही नील गाय की मौत हो गयी। वन अधिकारी खुर्शीद अहमद ने बताया कि यह रेंज वन प्रजाति का नर था, जिसको किसी जहरीले जानवर ने काटकर घायल कर दिया। जहर फैलने के कारण वह पागल हो गया था। उसी कारण से इसकी मौत हो गयी। वन विभाग की टीम में प्रमोद कुमार, शबी हैदर, चन्द्रपाल, रणवीर, अनिल आदि ने मृत का अन्तिम संस्कार कर दिया। खुर्शीद अहमद ने बताया कि शुक्रताल में वन विभाग की कोई एकत्र टीम नहीं बनी हुई है। सूचना पर क्षेत्र में निकले कर्मचारियों को घटनास्थल पर पहुंचने में देर हो जाती है। इस मौके पर अंकुश, मनोज, विपुल, खालिद, अपिन, अक्षय, राहुल, धर्मपाल, रोहित, फखरूज्जमा, मौ. कसीम, हैदर अली, हुमायूं, मशकूर, दानिश, आमिर, नासिर आदि मौजूद रहे।

Share it
Top