शव को लेकर सीमा विवाद में उलझी पुलिस

शव को लेकर सीमा विवाद में उलझी पुलिस

मोरना। दो थानों की सीमाओं पर स्थित खेत में मिले शव को लेकर पुलिस सीमा विवाद में उलझ गई है। मृतक की पत्नी ने थाना भोपा पुलिस के नाम तहरीर लिखकर कार्यवाही की गुहार लगायी है। वहीं थाना भोपा पुलिस ने घटना को छपार क्षेत्र में बताकर पल्ला झाडने का प्रयास किया है तथा थाना क्षेत्रन्तर्गत निवासी महिला की तहरीर लेने से इंकार कर दिया है। थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम नन्हेडी निवासी श्रीमती प्रमोद पत्नी कर्मवीर ने बताया कि गांव के ही जगवीर पुत्र आशाराम ने एक लडकी को गोद ले रखा है। लडकी को भगा ले जाने का झूठा मुकदमा लिखाने के लिए पति कर्मवीर व उनके भाई सरदारा तथा मेरे पुत्रा रविन व अक्षय के विरूद्ध रंजिशन एक प्रार्थना पत्रा न्यायालय में दिया था, जिसकी जांच पुलिस कर रही है। मामले में फैसले को लेकर जगवीर 2 लाख रूपये की मांग कर्मवीर से कर रहा था। कर्मवीर ने किसी प्रकार 80 हजार रूपये की व्यवस्था की तथा जगवीर से फैसले की बात रखी। बुधवार दोपहर जगवीर व उसका भाई किशोर अपने साथ चार अज्ञात लोगों को लाया तथा पफैसला कर मामला निपटा देने को कहने लगे, जिस पर कर्मवीर 80 हजार रूपये साथ लेकर उनके साथ चला गया। घंटों बीत जाने पर कर्मवीर के घर ने लौटने पर परिजनों को चिन्ता सताने लगी तथा परिजनों ने जगवीर से पूछताछ की, जिस पर जगवीर ने कर्मवीर को खेत में पडा होना बताया। लगभग 4 बजे परिजन जंगल पहुंचे, जहां कर्मवीर जगवीर के खेत में पडा मिला। आनन पफानन में कर्मवीर को जिला चिकित्सालय ले गये, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों द्वारा शव को मोर्चरी में रखा होना बताया गया है। मृतक की पत्नी ने जगवीर, किशोर व चार अज्ञात लोगों पर पति कर्मवीर को जहरीला पदार्थ देकर हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं थाना भोपा पुलिस द्वारा घटना को थाना छपार में होना बताया जा रहा है तथा थाना छपार पुलिस ने बताया कि पूर्व के मामले थाना भोपा में दर्ज हैं, इसलिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर को घटना के बारे में जानकारी दी गई है।

Share it
Top