महिलाओं को कानून की जानकारी होना जरूरीः अदीब

महिलाओं को कानून की जानकारी होना जरूरीः अदीब

पुरकाजी। अस्तित्व सामाजिक संस्था की डायरेक्टर रेहाना अदीब ने कहा कि इस युग में महिलाओं को अपने अधिकार जानने होंगे, तभी वे अपने हक की लड़ाई को आगे बढ़कर लड़ सकती है। महिलाओं पर होने वाले अत्याचार भी बंद होंगे।
बुधवार की दोपहर पुरकाजी ब्लाक के मीटिंग हॉल में अस्तित्व सामाजिक संस्था (एक्शन सोशल टीम फॉर वूमेन) द्वारा प्रभावकारियों के साथ कानूनी संरचना पर एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता भूराहेड़ी के ग्राम प्रधान चौधरी नवीन राठी व संचालन शादाब ने किया। कार्यक्रम में संस्था प्रमुख रेहाना अदीब ने क्षेत्रा से आए महिलाओं को उनके अधिकारों से अवगत कराते हुए बताया कि जब संसार मंे जब तक महिलाएं अपने अधिकारों को नहीं पहचान लेगी, तब तक महिलाओं पर अत्याचार होता रहेगा। महिलाओं को अपने अधिकारों को आगे आकर जानना और पहचाना होगा। भारत की अधिकतर महिलाए अपने अधिकारों नहीं जानती है, जिस कारण वे परिवार और समाज की खातिर अत्याचार सहती रहती है, लेकिन अब समय आ गया है महिलाओं का अपने अधिकार जानने और पहचानने का। जिस दिन महिलाएं अपने अधिकारों को पहचान लेंगी, अत्याचार बंद हो जाएगा। मुजफ्फरनगर से आए एड़वोकेट टेªनर अश्वनी कुमार ने घरेलू हिंसा अधिनियम 2005 के बारे में विस्तार से बताया तथा कानून की जानकारी दे लोगों को संवेदनशील बनाने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम में मौजूद महिलाओं ने घरेलू हिंसा से संबंधी कानूनी धाराए के बारे में टेªनर से जानकारी हासिल की। भूराहेड़ी के प्रधान नवीन राठी ने कहा कि महिलाओं के मुद्दों को लेकर अस्तित्व सामाजिक संस्था वर्षो से काम कर रही पीड़ित महिलाओं को उनके हक दिला रही है। महिलाओं को जागरूक रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम सब लोगों को बाल विवाह, दलित हिंसा जैसी प्रथाओं को रोकना है। इस मौके पर रेहाना अदीब, शदाब जहां, गीता, कविता, अर्पित, कोपिन, प्रतिभा, कोपिन, असीम आदि मौजूद रहे।

Share it
Top