मामूली बरसात ने खोली पालिका के दावों की पोल

मामूली बरसात ने खोली पालिका के दावों की पोल

मुजफ्फरनगर। बुधवार को हुई बरसात ने नगर पालिका परिषद,मुजफ्फरनगर के सपफाई को लेकर किये गये सभी वादों की पोल खोलकर रख दी है। बरसात में ही कई मोहल्लों में गलियां तालाबों में तब्दील होती हुई नजर आयीं। स्थिति इससे भी विकट हुई, लोगों के घरों तक में पानी घुस गया। लोगों को पवित्र स्थलों मंे जाने को लेकर भी परेशानी का सामना करना पड़ा। उन्हें गंदे पानी के मध्य से होकर जाना पड़ा।
नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर द्वारा नगर में साफ-सफाई को लेकर बड़े-बड़े दावे किये गये थे। कहा गया था कि बरसाती मौसम से पूर्व ही नगर के सभी नालों-नालियों की साफ-सफाई करा ली जाएगी। साथ ही सड़कों पर पड़ने वाले कूडे का भी प्रबंध करने का वादा किया गया था। बुधवार को हुई बरसात ने, जो कि ज्यादा नहीं हुई, बस मामूली ही कही जाएगी, नगर पालिका परिषद के साफ-सफाई को लेकर किये गये सभी वादों की पोल खोलकर रख दी। कुछ ही समय में नगर के सहित आसपास के मोहल्लों के नालों सहित गलियों की छोटी नालियों की गंदगी सड़कों पर नजर आने लगी। गलियां छोटे तालाब के रूप लेती हुई नजर आयी। नगर से सटे मोहल्ला महमूदनगर में तो स्थिति इससे भी विकट हो गयी। यहां पर एक भी गली ऐसी नहीं बची कि जो कि बरसात के पानी से लबालब न हो। लोगों के घरों तक में नालियों की साफ-सफाई न होने के चलते बरसात का पानी घुस गया। मोहल्ले के लोगों में इस बात को लेकर नाराजगी थी कि इस बारे में नगर पालिका परिषद सहित जिला प्रशासन को भी कई बार अवगत कराया गया कि मौहल्ले की नालियों की साफ-सफाई नहीं हो पा रही है। जिसके चलते बरसात के मौसम में मोहल्लेवासियों को परेशानी हो सकती है, लेकिन किसी के भी कान पर जूं तक नहीं रेंगी। इबादत करने को लेकर भी नालियांे के गंदे पानी में से होकर जाने को मजबूर हो रहे हैं। सभी ने जिला प्रशासन सहित पालिका प्रशासन से गुहार लगायी है कि अभी तो यह बरसात का एक छोटा से नमूना था, जब यह हालत है, यदि पूरी तरह से बरसात का मौसम आ गया तो सभी लोगों को अधिक परेशानी का सामना करना होगा।

Share it
Top