नौकरी के नाम ठगी करने वाले डॉक्टर को जेल भेजा

नौकरी के नाम ठगी करने वाले डॉक्टर को जेल भेजा

मोरना। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात डॉक्टर द्वारा नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। युवतियों की शिकायत पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने थाना भोपा पुलिस को डॉक्टर को गिरफ्तार करने के आदेश पर भोपा पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस द्वारा डॉक्टर के गिरफ्तार होने की सूचना पर डॉक्टर द्वारा ठगे गये अन्य पीडित भी थाना भोपा पहुंच गये तथा डॉक्टर के विरूद्ध कडी कार्यवाही की मांग की। थाना भोपा पुलिस ने डॉक्टर को ठगी के आरोप में जेल भेज दिया। थाना भोपा पुलिस ने डॉ. विश्वास कुमार पुत्र खेमचन्द धीमान को गिरफ्तार कर लिया। डॉक्टर विश्वास प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मोरना पर तैनात थे। थाना भोपा पर पहुंची बिजनौर निवासी पारूल चौधरी ने बताया कि डॉ. विश्वास कुमार ने 1 वर्ष पहले उसके भाईयों की वार्ड ब्वॉय की नौकरी लगाने की बात कही थी तथा 8 लाख रूपये खर्च बताकर 7.5 लाख रूपये ले लिये थे। कुछ दिनों के उपरान्त नौकरी न लग पाने पर डॉक्टर से पैसे वापिस मांगे गये, जिस पर डॉक्टर ने आनाकानी शुरू कर दी। बार-बार कहने पर डॉक्टर ने कुछ पैसों के चैक उनको दिये जो बाउन्स हो गये, जिसका मामला भी न्यायालय में विचाराधीन है। कु. आकांक्षा बिजनौर ने बताया कि डॉक्टर ने रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर 1.5 लाख रूपये लिये तथा फर्जी टेनिंग भी करायी। इस कार्य में जानसठ निवासी सागर भी सम्मिलित था। दोनों युवतियों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर से डॉक्टर के विरूद्ध कार्यवाही की गुहार लगाई तथा आत्महत्या कर लेने की चेतावनी दी, जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने डॉ. विश्वास की तत्काल गिरफ्तारी के आदेश थाना भोपा पुलिस को दिये। भोपा पुलिस ने रविवार सवेरे डॉ. विश्वास को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी की सूचना मिलने पर अन्य लोग भी थाने आ पहुंचे जो डॉ. विश्वास पर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी की शिकायत कर रहे थे, जिनमें भोपा निवासी अनिल शर्मा ने डॉ. विश्वास पर नौकरी के नाम पर 6 लाख रूपये ठगने का आरोप लगाया। मोरना प्रभारी चिकित्सक डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि डॉ. विश्वास 1 फरवरी से अनुपस्थित चल रहे हैं, जिसमें उन्हें कई बार नोटिस दिया जा चुका है। प्राप्त जानकारी के अनुसार डॉ. विश्वास एम.बी.बी.एस., एम.डी. है तथा किसी फर्जी नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के चंगुल में पफंस गये। आदर्श सैलरी प्राप्त करने वाला डॉक्टर ठगों के चंगुल में पफंसता चला गया। इस मामले से जुडे गिरोह के कितने सदस्य हैं तथा उन्होंने कहां कहां अपना जाल फैला रखा है तथा कितने लोगों को अपना शिकार बनाया है? यह अभी जांच का विषय है।

Share it
Top