मुजफ्फरनगर: बुढाना में शव सड़क पर रखकर लगाया जाम...अंकित की हत्या या आत्महत्या में उलझी पुलिस

मुजफ्फरनगर: बुढाना में शव सड़क पर रखकर लगाया जाम...अंकित की हत्या या आत्महत्या में उलझी पुलिस

बुढ़ाना। एक दिन पूर्व घर से घोड़ों को चराने निकले युवक का शव पडौसी गांव के जंगल में पेड़ से लटका मिला। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेजकर जांच आरंभ कर दी है। पुलिस हत्या या आत्महत्या में उलझी है। सुल्तानपुर के जंगल में अंकित की पेड़ पर लटकी मिली लाश को पीएम के बाद गांव पहुंचने पर परिजनों ने शव सड़क के बीच में रखकर घण्टों जाम लगाया। परिजनों की मांग थी कि अंकित के हत्यारों की तुरंत गिरफ्तारी हो। मृतक के परिजनों को मुआवजा व भाई को नौकरी दी जाए। मौके पर पहुंचे विधायक उमेश मलिक ने आश्वासन दिया कि मामले का खुलासा कर हत्यारों की गिरफ्तारी 4 दिन के अंदर की जायेगी। मुआवजा के लिए विधायक ने एसडीएम श्याम अवध चौहान से वार्ता कर मुआवजा दिलाने की मांग की। आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।
कोतवाली क्षेत्र के गांव शाहडब्बर निवासी अंकित पुत्र देशपाल प्रजापति सायं अपने घोड़ों को लेकर चराने गया था। परिजनों ने बताया कि देर सायं घोड़े तो घर लौट आए। अंकित के घर न पहुंचने पर परिजनों ने उसकी तलाश की। काफी तलाश के बाद भी अंकित का कुछ पता नही चला। गुरुवार को सुबह करीब आठ बजे गांव सुल्तानपुर निवासी तेजबीर के आम के बाग में शव लटका होने की सूचना पर ग्रामीणों ने घटना स्थल की ओर दौड़ लगा दी। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। मृतक की शिनाख्त शाहडब्बर निवासी अंकित (22) पुत्र देशपाल प्रजापति रूप में हुई। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव को पेड़ से उतरवाया। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के छोटे भाई अजीत ने अज्ञात लोगों द्वारा हत्या की आशंका जताते हुए घटना की तहरीर पुलिस को दी है। सीओ हरिराम यादव ने बताया कि गांव शाहडब्बर के अंकित नाम के युवक का शव सुल्तानपुर के जंगल में पेड़ से लटका मिला है। युवक की हत्या या आत्महत्या के विषय में जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी।
बुढाना क्षेत्र के गांव सुल्तानपुर के जंगल में अंकित की पेड़ पर लटकी मिली लाश को पीएम के बाद गांव पहुंचने पर परिजनों ने शव सड़क के बीच में रखकर घण्टों जाम लगाया। परिजनों की मांग थी कि अंकित के हत्यारों की तुरंत गिरफ्तारी हो। मृतक के परिजनों को मुआवजा व भाई को नौकरी दी जाए। मौके पर पहुंचे विधायक उमेश मलिक ने आश्वासन दिया कि मामले का खुलासा कर हत्यारों की गिरफ्तारी 4 दिन के अंदर की जायेगी। मुआवजा के लिए विधायक ने एसडीएम श्याम अवध चौहान से वार्ता कर मुआवजा दिलाने की मांग की। आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।

Share it
Top