एक साथ चार लाशें देखकर रोई हर आंख...पुरकाजी क्षेत्र के गांव धमात में एक साथ जली चार युवकों की चिता

एक साथ चार लाशें देखकर रोई हर आंख...पुरकाजी क्षेत्र के गांव धमात में एक साथ जली चार युवकों की चिता

पुरकाजी। सोमवार के दिन थाना चरथावल क्षेत्र के गांव अमीगढ़ में सड़क हादसे में पुरकाजी थाना क्षेत्र के गांव धमात निवासी बाईक सवार चार युवकों की दर्दनाक मौत हो गई थी, जिसमें मुआवजे की मांग को लेकर परिजनों ने हाईवे पर जाम लगाकर कापफी हंगामा किया था। देर सायं मृतक युवकों के शव को पुलिस ने पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। मंगलवार की प्रातः मृतक राहुल पुत्र राजकुमार, मिंटू पुत्र ओमा, काला पुत्र सुदेश, रवि उर्फ गोरखा के शव गांव में आते ही हाहाकार मच गया। गांव धमात में एक साथ चार युवकों की लाशें देखकर गांव में शोक की लहर दौड़ पड़ी और गांव व आसपास के लोग मृतकों के परिवार जन को सांत्वना देने लिए दौड़ पड़े। लोगों की समझ में यह नहीं आ रहा था। किसी घर जाकर पहले सात्वना दे, लेकिन गांव व आसपास के लोगों ने मृतकों के घरों पर पहुचकर का सांत्वना देते रहे। चारों युवकों के परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल था। गांव के हर व्यक्ति की आंखों में आंसू थे। चारों युवकों के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी, तभी भाजपा विधायक प्रमोद उटवाल, पूर्व जिला पंचायत सदस्य डा. संदीप वर्मा, पप्पू धीमान व बसपा के पूर्व विधायक अनील कुमार, वरिष्ठ नेता विजय गुर्जर, आजाद फरीदी, अमित को लेकर मृतकों के परिवार जन से मिले और सांत्वना दी। दोपहर साढे ग्यारह बजे जब गांव से एक साथ चारों युवकों की अर्थी उठी, तो चारों को रोने की आवास गंूज उठी और सभी अपने लाल अपने बेटों और भाई को खोज रहे थे। गांव से एक किमी दूरी पर स्थित श्मशान घाट पर गमगीन माहौल में एक साथ चारों मृतकों को मुखाग्नि दी गई। विधायक प्रमोद उटवाल ने अंतिम संस्कार के बाद परिजनों से कहा कि सरकार से जो भी मदद मिलेगी उसको दिलाने में वे कोई कमी नहीं छोडेंगे। उन्होंने कहा कि वे 52 वर्ष के हो गए है, लेकिन ऐसी दिल दहलाने वाली घटना अपने जीवन में पहले कभी नहीं देखी है कि किसी एक गांव में एक साथ चार अर्थी एक साथ जली हो। यह बात कहते हुए उनकी आंखे नम थी।

Share it
Top