कैमिकल फैक्ट्री के बाहर किसान का शव रखकर किया प्रदर्शन....फसल बर्बाद होने पर घासीपुरा के किसान रघुवीर सैनी की हार्टअटैक से मौत पर हुआ जमकर हंगामा

कैमिकल फैक्ट्री के बाहर किसान का शव रखकर किया प्रदर्शन....फसल बर्बाद होने पर घासीपुरा के किसान रघुवीर सैनी की हार्टअटैक से मौत पर हुआ जमकर हंगामा

मंसूरपुर। बेगराजपुर में चक्रधर कैमिकल प्राईवेट लिमिटेड के नाम से कैमिकल फैक्ट्री हैं, जिसके पास में घासीपुरा व बेगराजपुर के किसानों की जमीन है, जिस पर किसानों की गन्ने व ज्वार की फसल खड़ी हुई है। ग्रामीणों का आरोप है कि फैक्ट्री से जहरीली गैस निकलने के कारण किसानों की खड़ी फसल सूख गई है। 13 जुलाई में भी किसानों ने फैक्ट्री में फसल सूखने को लेकर हंगामा किया था। इस हंगामे में रालोद नेता व खतौली विधायक विक्रम सिंह भी मौके पर पहुंचे थे और बाद में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को भी लिखित में इस मामले से अवगत कराया था, लेकिन फैक्ट्री के खिलाफ किसी प्रकार की कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई थी। रविवार के दिन घासीपुरा निवासी 55 वर्षीय किसान रघुवीर सैनी पुत्र समेरा सुबह अपने खेत में ज्वार देखने के लिए गया था, जब उसने देखा कि उसकी फसल सारी सूखी पड़ी है, तो अचानक वह सदमे में आ गया और उसे दिल का दौरा पड़ा। रघुवीर के पुत्रा मिंटू ने उसे तुरंत ही मुजफ्फरनगर एक प्राईवेट चिकित्सक के यहां भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान रघुवीर सैनी की मौत हो गई। किसान की मौत की खबर मिलते ही ग्रामीणों में पफैक्ट्री के खिलाफ आक्रोश पफैल गया। सोमवार सुबह मृतक किसान के परिजनों व ग्रामीणों ने किसान के शव को फैक्ट्री के गेट पर लाकर रख दिया और हंगामा शुरू कर दिया। किसान की मौत की जानकारी रालोद कार्यकर्ताओं व खतौली विधायक विक्रम सैनी को हुई, तो वह भी मौके पर पहुंच गए और मृतक किसान के शव के पास धरना शुरु कर दिया। ग्रामीणों व विधायक द्वारा फैक्ट्री पर धरना देने की जानकारी मिलने पर एसडीएम खतौली कन्हैई सिंह, सीओ खतौली डा. राजीव कुमार सिंह, तहसीलदार खतौली अमित कुमार तथा थाना प्रभारी मंसूरपुर केपीएस चहल भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और किसान के शव को पोस्टमार्टम पर भेजने की तैयारी करने लगे, मगर ग्रामीणों व रालोद कार्यकर्ताओं ने सापफ इंकार कर दिया और कहा कि जब तक सरकार की ओर से मृतक किसान के परिजनों को उचित मुआवजा व फैक्ट्री के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती, शव उठने नहीं दिया जाएगा। इस पर एसडीएम खतौली कन्हैई सिंह ने किसान दुर्घटना बीमा से मिलने वाले पांच लाख रुपए तथा मुख्यमंत्राी राहत कोष से उचित मुआवजा दिलाने व जांच के बाद दोषी होने पर फैक्ट्री के खिलाफ उचित कार्यवाही करने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया। इस बात पर धरना समाप्त किया गया, तब पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक किसान के पुत्र मिंटू ने फैक्ट्री मालिक व मैनेजर के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। इस मौके पर रालोद जिलाध्यक्ष अजीत राठी, जिला पंचायत सदस्य पति संजय राठी, सुधीर भारतीय, विदित प्रधान, जगपाल, धर्मेंद्र तोमर, हरेंद्र शर्मा, मुकेश प्रधान भैंसी, सुमित शर्मा, अरविंद प्रधान, मोनू, प्रमोद, मास्टर जयपाल, राजवीर, घसीटा, बलवंत, धनपत, ओमबीरी, संतोष, मूर्ति, दया, लख्मीरी, जयवती आदि सैंकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे। रालोद नेताओं कार्यकर्ताओं वह ग्रामीणों की जिद के चलते पुलिस ने फैक्ट्री के अंदर से फैक्ट्री के मैनेजर डायरेक्टर अभय केडिया को गिरफ्तार कर थाने में लाकर बैठा दिया गया।

Share it
Top