लूट व चोरी की दर्जनों वारदात होने से दहशत...पुलिस के हाथ अभी तक भी खाली, व्यापारियों में रोष व्याप्त

लूट व चोरी की दर्जनों वारदात होने से दहशत...पुलिस के हाथ अभी तक भी खाली, व्यापारियों में रोष व्याप्त

बुढ़ाना। बदमाश पुलिस के लिए चुनौती बने हुए हैं। आये दिन होने वाली लूट की वारदात पर लगाम लगाने में पुलिस नाकाम साबित होती जा रही है। बदमाशों ने शनिवार की रात्रि को लकड़ी व्यापारी को निशाना बनाते हुए 22 लाख की लूट की। वहीं पिछले एक पखवाड़े में लूट की घटनाओं में भी पुलिस के हाथ खाली है। लूट के अलावा दर्जनों चोरी की घटना से भी व्यापारियों में दहशत है। कस्बे के लकड़ी व्यापारी शुभम गर्ग से गत रात्रि में सशस्त्र बदमाश जान से मारने के धमकी देते हुए 22 लाख की नकदी लूट कर फरार हो गए थे। बुढ़ाना क्षेत्र में इतनी बड़ी लूट की घटना से पुलिस महकमे में हडकंप मचा है। पिछले एक माह में लूट व चोरी की पांच बड़ी घटनाएं हुई है, जिनमें पुलिस कोई सुराग नहीं लगा पाई है। इसके अलावा कई ऐसे मामले भी है, जिन्हें पुलिस ने दर्ज तक नहीं किये हैं। एक माह पूर्व कुरथल मार्ग पर गांव कुरथल निवासी नीरज को बंधक बनाकर बदमाशों ने हजारों की नकदी व जेवरात लूट लिए थे। उसके बाद बदमाशों ने कई अन्य राहगीरों से भी लूटपाट की। एक माह पूर्व उकावली मार्ग पर सोनू दूधिया के साथ मारपीट कर हजारों की नगदी लूटकर बदमाशों ने सनसनी फैलाई थी। वहीं सोनू को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। गांव लुहसाना में 30 जून की रात्रि में शीशपाल के घर में घुसकर बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाते हुए लाखों की लूट की। घटना में शीशपाल व उसका पुत्र घायल हो गये थे। कस्बे के बडौत मार्ग पर 17 जुलाई की रात्रि प्रदीप के मकान में घुसे बदमाशों ने उसकी पत्नि को बंधक बनाकर नकदी व जेवरात लूट लिए थे। बदमाश लाखों की लूट कर फरार हो गये थे। इस घटना को पुलिस ने चोरी में दर्ज किया था। इसके अलावा 22 जून की रात्रि बिराल मार्ग पर दर्जनों अस्लाहधारी बदमाशों ने आधा दर्जन राहगीरों को एक के बाद एक बंधक बनाते हुए लूट की। 21 जुलाई की रात्रि राजीव राणा की दुकान फाड़कर हजारों के उपकरण चोरी हा गये थे। राष्ट्रपति पुरस्कार सम्मानित अध्यापक के घर से नकदी व जेवरात समेत राष्ट्रपति पुरस्कार में मिला पदक भी चोरी हुआ था। पुलिस इन सभी मामलों में खाली हाथ है, वहीं व्यापारियों में दहशत व्याप्त है।

Share it
Top