बसधाडा गैंगरेप कांड के सात आरोपी दोषी करार...कोर्ट ने सोमवार को सजा सुनाने का निर्णय लिया

बसधाडा गैंगरेप कांड के सात आरोपी दोषी करार...कोर्ट ने सोमवार को सजा सुनाने का निर्णय लिया

मुजफ्फरनगर। बहुचर्चित बसधाडा रेपकाण्ड के सनसनीखेज मामले में कोर्ट ने आज सात आरोपी दोषी ठहरा दिये हैं। वर्ष 2013 में काकडा गांव की युवती के साथ बसधाडा गांव के जंगल में गैंगरेप किया गया था। सात युवकों ने युवती के साथ गैंगरेप करने के बाद उसकी आपत्तिजनक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दी थी। अब इस मामले में दोषी करार दिये गये सभी आरोपियों को कोर्ट द्वारा सोमवार को सजा सुनाई जायेगी। जानकारी के अनुसार मुजफ्फरनगर में सितम्बर 2013 में हुए साम्प्रदायिक दंगे के बाद गैंगरेप की घटना को लेकर चर्चा में रहे बसधाडा गैंगरेप काण्ड के मामले में आज एडीजे-15 राजेश भारद्वाज ने सात आरोपियों को दोषी ठहराते हुए आदेश दिया कि आरोपियों को सोमवार को सजा सुनाई जायेगी। एक आरोपी पहले से ही जेल में बंद है, जबकि 6 आरोपी जमानत पर बाहर है। अभियोजन सूत्रों के अनुसार गांव काकडा निवासी पीडिता अपने दोस्त राहुल के साथ बाईक पर जा रही थी। गांव बसधाडा के निकट 6 युवकों ने युवती व उसके दोस्त को रोक लिया और नजदीक ही जंगल में एक ट्यूबवैल पर ले गये, जहां पर सब ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी आपत्तिजनक वीडियो भी बना ली। यह घटना 17 अगस्त 2013 की है, लेकिन घटना की रिपोर्ट 10 माह बाद जब दर्ज की गई, जब आरोपियों ने गैंगरेप का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। इस मामले में 24 जून 2014 को रिपोर्ट दर्ज की गई, तभी यह घटना प्रकाश में आयी। पीडिता व आरोपी दूसरे समुदाय के होने के कारण इलाके में तनाव फैल गया था, जिन आरोपियों को कोर्ट ने दोषी माना, उनमें राशिद, अब्दुल, सलाउद्दीन, वासिद, मोनू व सोमन के अलावा राहुल भी शामिल है, जिसने अपना नाम बदलकर युवती से दोस्ती कर ली थी और पिफर साजिश के तहत उसे अपने साथियों के सामने परोस दिया था। ज्ञातव्य है कि शाहपुर क्षेत्र के गांव कूकडा की एक युवती शाहपुर में स्थित एक नर्सिंग होम में नर्स के रूप में कार्य करती थी, वहीं पर उसकी दोस्ती बसधाडा के समुदाय विशेष के एक युवक से हो गयी थी, जिसने अपना असली नाम न बताकर युवती से राहुल नाम बताकर दोस्ती की थी। घटना वाले दिन युवती अपने कथित दोस्त राहुल के साथ बाईक पर सवार होकर मंसूरपुर में एक रेस्टोरैन्ट में गयी थी, जहां से वापस लौटते समय साजिश के तहत 6 युवकों ने युवती व उसके दोस्त को रोक लिया और जंगल में एक ट्यूबवैल के निकट ले जाकर बारी-बारी से दुष्कर्म किया गया। इस साजिश में युवती का कथित दोस्त भी शामिल था, जिसने अपने समुदाय के ही 6 दोस्तों के साथ मिलकर युवती से दुष्कर्म कराया था। यह घटना उस समय खुली, जब उक्त युवकों ने गैंगरेप का आपत्तिजनक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया और मामला पुलिस के संज्ञान में आया। घटना को लेकर उस समय काफी तनाव हुआ था। पीडित परिवार काकडा से अपना घर बेचकर कहीं दूर चला गया था।

Share it
Top