मुजफ्फरनगर: शौचालय निर्माण में गुणवत्ता का रखें ध्यानः डीएम

मुजफ्फरनगर: शौचालय निर्माण में गुणवत्ता का रखें ध्यानः डीएम

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने कहा कि पूराने बेस लाईन सर्वे में पात्र पाये गये परिवारों को शौचालयों का लाभ प्राथमिकता पर दिया जाये। उन्होंने कहा कि पूरे जनपद को ओडीएफ कराया जाना है। उन्होंने कहा कि बेस लाईन सर्वे संशोधन के पश्चात जनपद में कुल शौचालयों की डिमांड 64565 प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि 2012 में बेस लाईन सर्वे की कुल डिमांड 163752 थी, जिनमें 73182 शौचालय बनाये गये शेष बेस लाईन सर्वे में 25914 का डिलीशन/संशोधन के बाद डिमांड 64656 शेष है। उन्होंने कहा कि पुराने पात्रों को परिवारों के यहां शौचालय निर्मित कराये जाये। उन्होंने कहा कि जिन ग्राम पंचायतों में ट्रिगरिंग का कार्य अवशेष है, वहां पर ट्रिगरिंग टीम भेजी जाये। ट्रिगरिंग एवं फालोअप के लिए पांच पांच सदस्यों की 30 टीमों को गठन कराया गया है, जो पांच दिन ग्राम में रूक कर लोगों को शौचालयों के प्रयोग के बारे में जागरूक करेगी। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी आज यहां कलैक्ट्रेट सभागार में जिला स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। जिलाधिकारी ने कहा कि ट्रिगरिंग एवं फालोअप टीम गांवों में जाकर ग्रामीणों को ओडीएफ के बारे में जागरूक करें और उन्हें बताये कि यदि सभी लोग शौचालयों को प्रयोग करेंगे तो आधी बीमारियां स्वतः ही समाप्त हो जायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में 1645 आंगनवाडी, आशा, महिला समाख्या, सचिव का एक दिन का ऊन्मुखी कराया जा चुका है और स्वच्छाग्राही के रूप में उनका चयन कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने ब्लॉक लेविल पर भी इनका प्रशिक्षण कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर पर ग्रामों को खुले में शौच मुक्त करने व शौचालयों का सुचारू रूप से निर्माण कराने के लिए निगरानी समितियों का भी गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि खुले मे शौच मुक्त कराने वाली टीम को प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि ग्राम चैम्पियनों को शौचालयों को निर्माण एवं एलजीडी कोडिंग के उपरान्त 75 रूपये एवं 6 माह तक निरंतर उपयोग करने के बाद द्वितीय चरण में प्रोत्साहन राशि रूपये 75 प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि सीएलडीएस के अन्तर्गत ट्रिगरिंग, फालोअप में लगी टीमों को प्रति ग्राम पंचायत जिला स्तरीय समिति के सत्यापन उपरान्त प्रोत्साहन राशि उपलब्ध करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत शौचालय निर्माण की प्रगति के लिए राज मिस्त्री एक मुख्य कडी है। उन्होंने बताया कि यदि शौचालय मानक के अनुरूप नही बनता है, तो लाभार्थी उस समुचित नहीं कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि 100 राज मिस्त्रियों को मास्टर ट्रेनर बनाकर प्रत्येक ब्लॉक पर भेजा जाये और ग्रामीण स्तर पर तीन दिन की राज मिस्त्रियों की ट्रेनिंग करायी जाये, जिससे कि राज मिस्त्री बडी संख्या में उपलब्ध हो सकेंगे और शौचालय निर्माण की गुणवत्ता भी बनी रहेगी। जिलाधिकारी ने टेक्नीकल संस्थानों को भी सहयोग प्राप्त करने के डीपीआरओ को निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि दो राजमिस्त्री की टीम बना कर प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक मॉडल शौचालय को निर्माण कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक मास्टर ट्रेनर को 400 रूपये प्रतिदिन मानदेय दिया जायेगा।
जिलाधिकारी ने कहा कि शौचालय निर्माण के लिए सामग्री प्रदाताओं की सूची वाणिज्यकर विभाग से प्राप्त कर ली जाये। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत में निर्मित शौचालयों में यूनिकोडिंग अनिवार्य रूप से करायी जाये। डीपीआरओ ने बताया कि 271 ग्राम पंचायतों में से 111 ग्राम पंचायतों को कार्य पूर्ण हो चुका है, जिसमें से 160 का शेष है, जिस पर कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। उन्होंने बताया कि एलजीडी कोडिंग का दायत्व लाभार्थी का होगा। जिलाधिकारी ने बताया कि शौचालय निर्माण के पश्चात उनके फोटोग्राम भी करा लिये जाये, जिसमें लाभार्थी, यूनिकॉडिंग आदि को भी दर्शाया जाये। जिलाधिकारी ने बताया कि लाभार्थी को शौचालय निर्माण के लिए 12 हजार की धनराशि शौचालय निर्माण हेतु उपलब्ध करायी जाती है, जोकि दो किस्तों में लाभार्थी के खातें में भेजी जाती है। जिलाधिकारी ने बताया कि शौचालय निर्माण एवं निर्माण की गुणवत्ता का तृतीय पक्ष सत्यापन भी कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधानों का ब्लॉक वाइज सम्मेलन कराने जिला स्तरीय अधिकारियों की नियमित बैठक कराने के भी निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने गांव का कूडा प्रबन्धन, साफ-सफाई, नालों की सफाई एवं तालाबों की सफाई भी स्वच्छ भारत मिशन से जोडे जाने के निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, डीपीओ एवं अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share it
Top