सूदखोर ने युवक को मारपीट कर ईंख के खेत में फेंका

सूदखोर ने युवक को मारपीट कर ईंख के खेत में फेंका

खतौली। ब्याज के रूप में लोगों का खून चूसने वाले सूदखोर कसाई ने एक युवक को मारपीट कर ईख के खेत में पफेंक दिया। किसान की सूचना पर पुलिस ने युवक को खेत से उठाकर अस्पताल में भर्ती कराकर आरोपी सूदखोर की तलाश शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार कस्बे के मौहल्ला इस्लामनगर का रहने वाला मुस्तकीम कुरैशी ब्याज पर रुपये चलाने का काम करता है। बताया गया कि जुम्मा पैठ में पफंड लगाकर सामान बेचने वाले मौहल्ले के ही रहने वाले युवक नवेद खान पुत्रा रहीस आजम ने मुस्तकीम से तीन साल पहले 60 हजार रुपये ब्याज पर लिये थे। नवेद के अनुसार वो मुस्तकीम को तीन सालो में तीन लाख सोलह हजार रुपये ब्याज के रूप में दे चुका है, इसके बाद भी मुस्तकीम ने उसपर तीन लाख रुपये मूल व ब्याज के और निकाल रखे है। बताया गया की एक सप्ताह पूर्व मुस्तकीम ने नवेद को अपने घर में बंधक बनाकर बकाया रकम चुकता करने के लिये उसे प्रताड़ित किया था। नवेद द्वारा चार दिन में रुपये लोटाने का वादा करने पर ही मुस्तकीम ने उसे बंधनमुक्त किया था। बताया गया कि नवेद की वादा खिलाफी से झल्लाये मुस्तकीम ने रविवार शाम को अपने साथियो के साथ मिलकर बाईक द्वारा मुजफ्फरनगर से लोट रहे नवेद को मंसूरपुर थाना क्षेत्र के एक होटल के पास रोककर उसके साथ मारपीट की तथा पास स्थित ईख के खेत में नवेद को बंधक बनाकर डालने के अलावा उसकी बाईक भी क्षतिग्रस्त कर वही पफेंक दी। बताया गया कि सोमवार प्रातः खेत मालिक ने नवेद को बंधनमुक्त कर 100 डायल पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुला नवेद को उनके हवाले किया। नवेद से जानकारी लेकर 100 डायल पुलिस ने खतौली थाने को सूचित कर उसे सरकारी अस्पताल पहुंचाया। उपचार के बाद खतौली थाने पहुंचे नवेद ने सूदखोर मुस्तकीम व दो अज्ञात के विरुद्ध तहरीर देकर कार्यवाही की मांग पुलिस से की है। घटना क्षेत्र थाना मंसूरपुर का मानकर कोतवाली पुलिस मुकदमा दर्ज करने के बजाये अभी मामले की जांच पड़ताल कर रही है। बताया गया नवेद ने मंसूरपुर थाने में भी तहरीर दी है। उल्लेखनीय है कि कस्बे में मामूली रकम देकर चालीस प्रतिशत तक का ब्याज वसूलने वाले सूदखोरों का आतंक है। चर्चा है कि सूदखोरों के चंगुल में जो भी एक बार फंस जाता है। उसको अपनी जान बचाना मुश्किल हो जाता है।

Share it
Top